पत्नी से पीड़ित पतियों की दास्तान नहीं बुझा पाया था पत्नी के पैसों की तृप्ति, मौत को लगाया गले

ससुराली जनों के खिलाफ दहेज के लिए सताने की शिकायत बहुएं अक्सर लगाती हैं। दहेज के लिए पत्नी या बहू की हत्या के मामले भी अक्सर सामने आते हैं लेकिन जय देवीदास तेलवानी खुदकुशी मामले में पता चला है कि पत्नी के पैसों की तृप्ति को शांत करने में नाकाम होने तथा पत्नी की प्रताड़ना से तंग आकर उसने मौत को गले लगाया था। पुणे में ही घटी एक और घटना में एक ३५ वर्षीय शख्स ने पत्नी व ससुरालवालों की प्रताड़ना से तंग आकर मौत को गले लगा लिया है।
बता दें कि पहली घटना पुणे जिला स्थित पिंपरी चिंचवड इलाके की है, जिसमें शराब एवं शॉपिंग के लिए पत्नी द्वारा की जानेवाली पैसों की मांग को पूरा करने में नाकाम जय देवीदास तेलवानी नामक ३५ वर्षीय शख्स ने नवंबर महीने में खुदकुशी कर ली थी। जय के परिजनों द्वारा की गई शिकायत की जांच में पुलिस को पता चला कि जय की पत्नी तृप्ति पैसों की मांग को लेकर उसे पीटती थी। उसने जय के बारे में एक वीडियो बनाकर सोशल मीडिया में उसके दोस्तों के बीच वायरल किया था, जिसको लेकर भी जय परेशान था। चिखली पुलिस ने तृप्ति को गिरफ्तार किया है। इसी तरह की एक अन्य घटना में पुणे जिले के आंबेगांव बुद्रुक इलाके का निवासी किशन वाघमारे पिछले कुछ दिनों से मानसिक रूप से परेशान था। किशन और उसकी पत्नी के बीच बिल्कुल भी नहीं बनती थी। पत्नी के साथ हमेशा होनेवाले झगड़े से वह काफी निराश था। बताया जा रहा है कि जिस घर वे रहते थे वह किशन के नाम पर था, जबकि पत्नी चाहती थी कि किशन वह मकान उसके नाम कर दे। आए दिन के झगड़े से तंग आकर किशन ने अपने घर में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। फिलहाल भारती विद्यापीठ पुलिस इस मामले में जांच कर रही है।