पनवेल का बम फटा होता तो कोहराम मच जाता!

पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमले के बाद देशभर में दहशत और गुस्से का माहौल है। इसी दरम्यान बीते दो दिनों में मुंबई व आसपास के इलाकों में घट रही घटनाओं से लोग सहमे हुए हैं। दहिसर के काशीमीरा स्थित ठाकुर मॉल के सामने कम तीव्रतावाले बम विस्फोट के बाद रायगढ़ जिले में एसटी बस में अधिक तीव्रतावाला साढ़े तीन किलो विस्फोटक (बम) मिला है। यह विस्फोटक आरडीएक्स जितना ही ज्यादा घातक हो सकता है, ऐसी आशंका जताई जा रही है। यदि साढ़े तीन किलो का यह बम भीड़-भाड़वाले इलाके में फट जाता तो बस के परखच्चे उड़ जाते और ३५० से ज्यादा लोगों की जान चली जाती।
बता दें कि कर्जत-से रायगढ़ जिला स्थित आपटा (पनवेल) जा रही एसटी बस में आईईडी बम बरामद हुआ है। बताया जा रहा है कि बुधवार की देर रात ११ बजे के करीब कंडक्टर की नजर बस में लावारिस थैली पर पड़ी। किसी यात्री का छूटा सामान समझकर कंडक्टर ने थैली की जांच की तो उसमें बिजली के तार के साथ जुड़ा इलेक्ट्रॉनिक उपकरण और सफेद पावडर नजर आया। कंडक्टर ने टाइम बम जैसी नजर आ रही वस्तु की सूचना रसायनी पुलिस को दी थी, जिसके बाद रायगढ़ जिले के पुलिस अधीक्षक अनिल पारसकर स्थानीय पुलिस सहित आरएसपी व बम निरोधक दस्ते (बीडीडीएस) के साथ मौके पर पहुंच गए। जांच करने पर उक्त संदिग्ध वस्तु बम होने की पुष्टि हो गई। बम निरोधक दस्ते ने लगभग ४ घंटे की मशक्कत के बाद बम डिफ्यूज किया। बम को फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है। काशीमीरा के बाद कर्जत में बम मिलने की घटना मुंबई को दहलाने की साजिश है या किसी की शरारत? इसकी जांच पुलिस व जांच एजेंसियां कर रही हैं।