पर्दे में परदेश चली कोकीन, विदेशी तस्करों की नई ट्रिक

मुंबई में रह रहे विदेशी खासकर अप्रâीकी ड्रग्स तस्कर पुलिस के लिए बड़ा सिरदर्द साबित हो रहे हैं, जो कि ड्रग्स तस्करी के लिए नित नई-नई तरकीब अपनाते रहे हैं। अब तक अप्रâीकी देशों से मादक पदार्थ लाकर मुंबई में बेचनेवाले इन विदेशी तस्करों की एक नई ट्रिक ने पुलिस को चौंका दिया है। ये ड्रग्स तस्कर पर्दे की आड़ में कोकीन जैसा मादक पदार्थ भेजने लगे हैं। मुंबई से जोहांसबर्ग भेजी जा रही ऐसी ही लगभग ३९ करोड़ रुपए की साढ़े ६ किलो कोकीन अंबोली पुलिस ने जप्त की है। इस मामले में पुलिस ने तीन अप्रâीकी नागरिकों सहित ब्राजील की एक महिला को गिरफ्तार किया है।
बता दें कि अंबोली पुलिस के पुलिस निरीक्षक दया नायक को मादक पदार्थों की तस्करी से जुड़ी एक अंतरराष्ट्रीय टोली के बारे में जानकारी मिली थी। डीसीपी परमजीत सिंह दाहिया के मार्गदर्शन तथा वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक भरत गायकवाड के नेतृत्व में अंबोली पुलिस ने अंधेरी (पश्चिम) न्यू लिंक रोड स्थित मौर्या लैंडमार्क के पास से निरस अझुबिक ओखोवो, सायमन अगाबोता, मायकल संदे नामक नायजीरियन नागरिकों को कार्ले पिंटो आयरिस (ब्राजील की महिला) के साथ हिरासत में लिया। एडिशनल सीपी मनोज शर्मा ने बताया कि मूल रूप से कोपरखैरने में रहनेवाले इन संदिग्धों ने पर्दे में लगनेवाले छल्लों और झालरों में कोकीन छिपा रखी थी। तस्करों ने पुलिस को बताया कि वे इसी तरह पर्दे की आड़ में कुरियर से कोकीन को अप्रâीकी शहर जोहांसबर्ग भेजते थे। वहां से उसे अमेरिका और यूरोप के विभिन्न हिस्सों में भेजा जाता था। गिरफ्तार आरोपियों ने इससे पहले एक बार और इसी तरह कोकीन भेजने की बात पुलिस के समक्ष कबूली है। आरोपियों में शामिल निरस ओखोवो पहले भी एक बार ड्रग्स तस्करी मामले में दबोचा गया था तब वह ८० हजार रुपए (नगद) मुचलके पर रिहा हुआ था। इसी तरह कार्ले आयरिस नामक महिला २ महीने पहले भायखला जेल से ऐसे ही एक मामले में ३ साल की सजा काट कर रिहा हुई थी। पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर लगभग ३८,९५,९७,६०० रुपए आंकी गई है।