पवार की सभा फ्लॉप कुर्सियां रहीं खाली-खाली

राकांपा अध्यक्ष शरद पवार की उल्हासनगर के गोल मैदान में आयोजित चुनावी प्रचार सभा को नागरिकों ने कम प्रतिसाद दिया। राकांपा अध्यक्ष पवार के भाषण की शुरुआत हुई तो सभा में नागरिकों की संख्या कम थी जबकि कुर्सियों की प्रचंड गर्दी थी। मतलब साफ है कि कुर्सियां खाली थीं। कल्याण लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से कांग्रेस-राकांपा आघाड़ी के उम्मीदवार बाबाजी पाटील के चुनाव प्रचार के लिए गत मंगलवार को पवार उल्हासनगर गए थे। चुनाव प्रचार की सभा में पवार का भाषण करीब ९ बजे शुरू हुआ। अपेक्षा थी कि पवार की सभा में गोल मैदान खचाखच भरा रहेगा परंतु स्थिति ठीक उल्टी थी। बचे-खुचे लोग भी पवार के भाषण के दौरान उठकर जाने लगे। कल्याण-लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में आघाड़ी की पहली चुनाव प्रचार सभा में जिस प्रकार पवार व उम्मीदवार बाबाजी पाटील की फजीहत हुई, इससे स्पष्ट हो गया है कि आघा़ड़ी उम्मीदवार बाबाजी पाटील की नैया डूबनी तय है। इस चुनाव प्रचार सभा में पवार ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वयं का संसार नहीं है, वे दूसरों का संसार उजाड़ने का काम कर रहे हैं। मोदी पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू पर टिप्पणी कर रहे हैं। नेहरू देश को स्वतंत्रता मिलने के बाद देश में कारखाना लाए, इंदिरा गांधी ने पाकिस्तान को झुकाया। राजीव गांधी ने टेव्नâोलॉजी और मोबाइल तकनीकी लाई। मोदी आए तो नोटबंदी व जीएसटी लाए, ऐसा कटाक्ष पवार ने मोदी पर किया।