" /> पसंदीदा फार्मेट

पसंदीदा फार्मेट

क्रिकेट को ज्यादा से ज्यादा आकर्षक बनाने के लिए टेस्ट मैच से वन डे और वन डे से ट्वेंटी ट्वेंटी फार्मेट लाया गया। क्रिकेट तेज भी हुआ। रोचक भी हुआ और हिट भी हुआ। मगर आज भी कई खिलाड़ी हैं जो वन डे और २०/२० को पसंद नहीं करते। हां, खेलते जरूर हैं मगर उनकी चाहत टेस्ट मैच ही है। वैसे भी टेस्ट ही क्रिकेट की पहचान भी है और जान भी है। यही वजह है कि तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को टेस्ट का फार्मेट ही पसंद है। बुमराह ने कहा, क्रिकेट मैदान हर दिन छोटे होते जा रहे हैं और विकेट पहले से ज्यादा फ्लैट बनाए जाने लगे हैं। इसलिए हमें गेंद को बनाए रखने के लिए गेंदबाजों के लिए कुछ विकल्प चाहिए, ताकि वह कुछ कर सके. अंत में रिवर्स या पारंपरिक स्विंग या कुछ और। हां, टेस्ट क्रिकेट में परिस्थितियां ज्यादा बॉलर प्रâैंडली होती हैं। इसीलिए यह मेरा पसंदीदा फॉर्मेट है। लेकिन वनडे क्रिकेट में दोनों तरफ से नई गेंद होने लगी है, ऐसे में रिवर्स स्विंग मुश्किल ही कभी मिलता है। हम न्यूजीलैंड में खेल रहे थे, जहां बाउंड्री ५० मीटर की थी। ऐसे में आप छक्का मारने की नहीं भी सोच रहे तो भी छक्का हो जाता है। टेस्ट मैच में मुझे कोई समस्या नहीं है, जिस तरह चीजें होती हैं, उससे मैं खुश रहता हूं।