पांचवी पास राजस्थानी ठग का फर्जीवाड़ा, जवानों के नाम पर ओएलएक्स पर लगा रहा था चूना  

 

पुलवामा हमले सीआरपीएफ जवानों की शहादत के बाद देश में सेना, पुलिस एवं अन्य जांच एजेंसियों के प्रति लोगों में सहानुभति और सम्मान काफी बढ़ गया है। लेकिन एक राजस्थानी ठग इसी सम्मान से खिलवाड़ कर रहा था। वह सुरक्षा एजेंसियों से जुड़े जवानों के प्रति लोगों में विश्वास, सहानुभूति और सम्मान का लाभ उठाकर ओएलएक्स पर ठगी का कारोबार चला रहा था।  हैरानी की बात यह है कि पुलिस द्वारा पकड़ा गया यह ठग सिर्फ पांचवी तक ही पढ़ा-लिखा है।
बता दें कि www.olx.inनामक ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट पर फर्जी आईडी बनाकर सीआईएसएफ जवानों को सस्ते में मोबाइल फोन, मोटरसाइकिल, कार, सोना आदि बेचने का झांसा दिया गया और जवानों से उनके पहचान पत्र, आधार कार्ड आदि महत्वपूर्ण दस्तावेजों की जानकारी ले ली। बाद में ओएलएक्स विज्ञापनों के जरिए ऐसा आभास कराने लगा मानों सीआईएसएफ जवान ही मोबाइल फोन, मोटरसाइकिल, कार, सोना आदि बेच रहे हैं। विज्ञापनों के जरिए राजस्थान, हरियाणा, दिल्ली और महाराष्ट्र में कई लोगों को ठगा गया था। इसकी शिकायत बीकेसी स्थित साइबर पुलिस थाने में दर्ज हुई थी।  डीसीपी विशाल ठाकुर के मार्गदर्शन में मामले की जांच कर रहे पीआई सहस्त्रबुद्धे एवं एपीआई बलिराम सुतार की टीम को पता चला कि उक्त ठगी का कारोबार राजस्थान से चलाया जा रहा है। कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस ने आरोपी का राजस्थान के घोंघर गढ़ी, झीलपट्टी स्थित झेलपुरी का पता ढूंढ निकाला। लेकिन राजस्थान की कैथवाड़ाने पुलिस की मदद से पुलिस जब आरोपी को पकड़ने पहुंची तो उसके परिजनों ने पुलिस पर हमला का दिया। उन्होंने पुलिस टीम पर जमकर पत्थर बरसाए। लेकिन फिर भी पुलिस २२ वर्षीय आरोपी असिन अमिन को दबोचने में सफल हुई।