पाकिस्तानी ड्रोन धड़ाम!, सेना ने सरहद पर मार गिराया सेना ने सरहद पर मार गिराया

पश्चिमी राजस्थान में स्थित श्रीगंगानगर जिले के बॉर्डर इलाके में हिंदुस्थान-पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय बार्डर पर पाकिस्तान की ना‘पाक’ हरकतें लगातार जारी हैं। बॉर्डर पर स्थित हिंदूमलमल कोट क्षेत्र में पाक की ओर से रविवार को तड़के भी भारी फायरिंग की गई। इसके साथ ही वहां दो ड्रोन और उड़ते देखे गए। गोलाबारी के बीच वे ड्रोन गायब हो गए। संभावना जताई जा रही है कि सेना ने उन्हें मार गिराया है।
बता दें कि इससे पहले शनिवार रात को भी इस बॉर्डर इलाके में भारतीय सीमा में टोह लेने के लिए पाकिस्तान का एक और ड्रोन आया था। उसे भी देर रात सेना द्वारा मार गिराया गया। दूसरी तरफ शनिवार तड़के मार गिराए गए पाक ड्रोन का मलबा मिल गया है। यह मलबा क्षेत्र के फतुही गांव के खेतों में मिला है। पाक की ओर से इस क्षेत्र में हो रही लगातार फायरिंग के बाद शनिवार रात सीमावर्ती क्षेत्रों के गांवों में लाइट ऑफ करवा दी गई थी। जानकारी के अनुसार रविवार को तड़के बॉर्डर के खाट लबाना, रेणुका मदेरा और फतुही बड़ा आदि गांव में ग्रामीणों ने रुक-रुककर गोलियां चलने की आवाजें और दो धमाके सुने। खाट लबाना गांव के विनोद राजपूत ने बताया कि इस दौरान आसमान में दो पीले रंग की लाइटें इधर-उधर घूमती नजर आईं।  उसके बाद पाकिस्तान की तरफ से पहले फायरिंग की आवाज सुनी गई। बाद में हिंदुस्थान की तरफ से भी फायरिंग शुरू हो गई। करीब आधा घंटे तक रुक-रुककर फायरिंग होती रही। फायरिंग के बाद पीले रंग की दोनों लाइटें दिखना बंद हो गई। संभावना है कि इन दोनों ड्रोन को भी मार गिराया गया है। वे फतुही कोनी या खाट लबाना गांव के खेतों में ही कहीं गिरे होंगे। खबर लिखे जाने तक मलबे के लिए ग्रामीणों तथा सेना द्वारा सर्च अभियान जारी था, वहीं मंदिरों और गुरुद्वारों से मुनादी करवाई जा रही है कि किसी भी किसान को अगर खेतों में कोई संदिग्ध वस्तु नजर आए तो उसे हाथ न लगा कर तुरंत सेना को या पुलिस को सूचित करें। फिलहाल बॉर्डर पर फायरिंग बंद हो चुकी है।