पाकिस्तान का नामोनिशान न रहे, उद्धव ठाकरे ने बुलंद की देशवासियों की मांग

लातूर की विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने कल आतंक की पैâक्ट्री पाकिस्तान के खिलाफ देशवासियों की मांग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समक्ष बुलंद की। उन्होंने कहा कि देशवासियों की इच्छा है कि पाकिस्तान को एक ही बार में ऐसा सबक सिखाएं कि आगे से खुराफात करने के लिए उसका नामोनिशान तक न रहे।
कल लातूर के औसा में शिवसेना-भाजपा-आरपीआई महायुति की विशाल सभा आयोजित की गई थी। इस सभा पर पूरे देश की निगाहें टिकी हुई थीं क्योंकि शिवसेना-भाजपा युति होने के बाद यह पहली सभा थी, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे एक साथ सभा को संबोधित करनेवाले थे। कल उद्धव ठाकरे ने इस सभा में एक बार फिर विपक्ष पर जमकर हमला बोला। भाजपा के ‘संकल्पपत्र’ पर टिप्पणी करनेवाली कांग्रेस और उसके मुखिया राहुल गांधी पर उद्धव ठाकरे ने जमकर कटाक्ष किया। उन्होंने नरसिंहराव के कार्यकाल वाली कांग्रेसी सरकार के कार्यों की याद उजागर करते हुए कहा कि उस समय की सरकार आतंकियों के सामने सिर झुकानेवाली सरकार थी लेकिन आज की सरकार खुराफाती पाकिस्तान को करारा सबक सिखानेवाली सरकार है, चाहे वह उरी हमले के बदले किया गया सर्जिकल स्ट्राइक हो या पुलवामा हमले के बदले किया गया एयर स्ट्राइक। हमारी सरकार केवल बोलकर नहीं बल्कि पाकिस्तान को ठोंककर सबक सिखाती है। इस दौरान उद्धव ठाकरे ने भाजपा के ‘संकल्पपत्र’ की सराहना करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का विशेष रूप से अभिनंदन किया। उन्होंने कहा कि इस संकल्पपत्र में भाजपा ने उन सभी वचनों को समाहित किया है जिसकी वजह से शिवसेना-भाजपा की युति हुई है। उन्होंने कहा कि इस संकल्पपत्र में राम मंदिर, कश्मीर में धारा ३७० हटाने के मुद्दे के साथ-साथ किसानों को भी केंद्र बिंदु बनाया है। इस दौरान उद्धव ठाकरे ने भाजपा के ‘संकल्पपत्र’ पर कटाक्ष करनेवाली कांग्रेस के घोषणापत्र का पंचनामा कर डाला। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने घोषणापत्र में वचन नहीं डींगें मारी है। घोषणापत्र में गरीबी हटाओ की बात करनेवाले राहुल पहले ये बताएं कि जनता की गरीबी कब हटेगी? क्योंकि आपकी दादी के समय से गरीबी हटाओ का नारा दिया जा रहा है। आपकी गरीबी तो हट गई लेकिन जनता की नहीं। जनता की गरीबी हटाने के लिए ही महायुति की सरकार सत्ता में दोबारा लाना है। कड़ी धूप की परवाह न करते हुए महायुति की विशाल सभा में उपस्थित रहनेवाली जनता को धन्यवाद देते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि विश्वास, प्रेम और अधिकार से आप इस सभा में आए। उन्होंने कहा कि रजाकार और निजाम को भगानेवाली यह मराठवाड़ा की भूमि है। मराठवाड़ा के सूखाग्रस्त किसानों व जनता के साथ मजबूती से खड़े रहने की जरूरत है। लौह पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल ने जिस तरह मराठवाड़ा को सुल्तानी संकट यानी रजाकार और निजाम के अत्याचारों से मुक्त कराया था, ठीक उसी तरह वर्तमान में आसमानी संकट की मार झेल रहे सूखाग्रस्त किसानों और जनता के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मजबूती से खड़े रहे। ऐसा कहते हुए उद्धव ठाकरे ने केंद्र सरकार से सूखाग्रस्तों को और अधिक मदद देने की बात प्रधानमंत्री मोदी के समक्ष रखी। इसके साथ ही उद्धव ठाकरे ने समर्थ और संपन्न हिंदुस्थान के लिए एक बार फिर भगवा की पवित्र युति को भारी बहुमत से विजयी बनाने का आह्वान भी जनता से किया।