पानी संकट में मददगार होंगे ८००० कुएं

मुंबई को पानी आपूर्ति करनेवाली झीलों में इस वर्ष आवश्यकतानुसार बारिश नहीं हुई। इसके चलते मुंबईकरों पर आगामी वर्ष में पानी संकट का बादल न मंडराए इसके लिए मुंबई में मौजूद कुएं का सहारा लेने का मन मनपा जलविभाग बना रहा है।
बता दें कि वर्तमान में मुंबई में मोडक सागर, तानसा, तुलसी, विहार, भातसा, मध्य वैतरणा और अपर वैतरणा झील से पानी आपूर्ति की जाती है। इन झीलों से रोजाना ३,८०० मिलियन लीटर पानी की आपूर्ति की जाती है। इन झीलों में ११,९७,०२० मिलियन लीटर पानी जमा है, इससे मुंबई को सिर्फ जून माह तक ही पानी आपूर्ति की जा सकती है। मौसम विभाग की भविष्यवाणी के बाद भी झीलों में अक्टूबर महीने में बारिश नहीं हो पाई। ऐसे में दिसंबर के बाद से मुंबई में पानी कटौती करने की तैयारी मनपा जलविभाग ने की थी लेकिन इस संकट को टालने के लिए जलविभाग मुंबई में मौजूद आठ हजार कुएं का सहारा लेने का मन बना रहा है। बहरहाल इन कुओं को दुरुस्त कर इनका पानी स्लम इलाकों में प्रयोग करने की दिशा में जल विभाग कदम बढ़ाने की तैयारी कर रहा है। फिलहाल औपचारिक रूप से जल विभाग के वरिष्ठ अधिकारी इस पर नहीं बोल रहे हैं।