पारा ४० के पार!, चुनावी सरगर्मियां भी बढ़ी

– मुंबई में कल रिकॉर्ड तोड़ गर्मी रही
– गत ४ दिनों में पारा १० डिग्री चढ़ा
– मार्च में अब तक की सबसे ज्यादा गर्मी
– दोपहर में लू के थपेड़ों का अहसास
– तापमान एकाएक बढ़ने से मुंबईकर परेशान

सूर्य देव मानो मुंबईकरों पर कुपित हो उठे हैं। इसकी मिसाल है मुंबई में अचानक गर्मी का काफी बढ़ जाना। रविवार को जहां मुंबई का अधिक्तम तापमान ३६.७ डिग्री पहुंच गया था, वहीं सोमवार को हद ही हो गई जब मुंबई में पारा ४० डिग्री सेल्सियस के पार चला गया। पिछले ४ दिनों में शहर का तापमान करीब १० डिग्री बढ़ा है। गर्मी ने मुंबईकरों को बेहाल कर दिया मानो तेज धूप शरीर को निचोड़ रही हो। दूसरी ओर चुनावी सरगर्मियां भी काफी तेज हो गई हैं। लोकसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है। कल सभी राजनीतिक दलों के उम्मीदवारों ने प्रथम चरण का नामांकन पत्र दाखिल किया। इसी के साथ उम्मीदवार व उनके कार्यकर्ताओं ने नामांकन पत्र दाखिल करने के साथ प्रचार भी अभियान शुरू कर दिया है। मुंबई सहित महाराष्ट्र में मौसम व राजनीति दोनों का ही मिजाज गर्म चल रहा है। मौसम विशेषज्ञों के अनुसार गर्मी से २ दिनों बाद थोड़ी राहत तो मिल जाएगी लेकिन चुनावी सरगर्मी वोटिंग तक बनी रहेगी। तापमान में एका-एक वृद्धि से आम मुंबईकर बेहाल और पसीने से तरबतर है। कोई छाता तो कोई सन स्क्रीन लोशन तो कोई दुप्पटा तो कोई रुमाल का सहारा ले रहा है सूर्य की तेज किरणों से बचने के लिए। दूसरी ओर अपनी-अपनी पार्टी व उम्मीदवार को जिताने के लिए राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं को भीषण गर्मी की भी परवाह नहीं है। हर वर्ष मार्च में तापमान उफान पर रहता है। इस बार मुंबईकरों को काफी राहत थी लेकिन विगत दो दिनों से पड़ रही गर्मी ने लोगों को परेशान कर दिया है।

मुंबई में कल वर्ष २०१९ का सबसे गर्म दिन रहा। दोपहर के वक्त चेहरे पर लगनेवाले गर्म हवाओं के थपेड़े लू का अहसास करा रहे थे। रिक्शा, टैक्सी या फिर लोकल ट्रेन के यात्री हों, गर्म हवाओं के थपेड़े कल सभी ने महसूस किए। यहां तक कि घरों में भी पंखे गर्म हवा के झोंके दे रहे थे। इसी बीच कल नामांकन पत्र भरने के लिए निकले प्रत्याशियों ने कार्यकर्ताओं के साथ प्रचार की आंधी भी चलाई। पोस्टर, बैनर, टी-शर्ट और नारों के साथ प्रचार रैली भी निकाली।

बता दें कि मौसम विभाग द्वारा लगाए गए अनुमान से कल मुंबई का तापमान ७.५ डिग्री सेल्सियस अधिक दर्ज किया गया। क्षेत्रीय मौसम विभाग के अनुसार कल उपनगर का तापमान ४०.३ डिग्री दर्ज किया गया। मौसम विशेषज्ञ दिनेश मिश्रा ने इस संवाददाता को बताया कि देश के पश्चिमी दिशा में बना हल्का अधिक दबाव का क्षेत्र (एंटी साइक्लोन) और सूर्य का विषुवत रेखा से ऊपर यानी दक्षिणी गोलार्र्ध से उत्तरी गोलार्ध की ओर बढ़ना तापमान में वृद्धि का कारण है। इस समय धरती गर्म हो जाती है और उसके संपर्क में आनेवाली हवाएं भी गर्म हो जाती हैं। मौसम का आकलन करनेवाली संस्था स्काईमेट के चीफ मेट्रोलॉजिस्ट महेश पालावत ने बताया, ‘एंटी साइक्लोन के चलते राजस्थान की गर्म हवाएं मध्य एमपी से होते हुए मुंबई व महाराष्ट्र की ओर आ रही हैं। ये गर्म हवाएं समुद्री हवाओं को सेट नहीं होने दे रही हैं। यही कारण है कि मुंबई सहित राज्य का तापमान आगामी दो दिनों तक इसी तरह बना रहेगा। दो दिन बाद से मुंबईकरों को कुछ राहत मिलेगी। एक ओर जहां राज्य में गर्मी से लोग पस्त हैं वहीं दूसरी ओर मध्य महाराष्ट्र के सोलापुर, मराठवाड़ा के नांदेड और विदर्भ के गढ़चिरोली, वाशीम, यवतमाल, अकोला, बुलढाणा और चंद्रपुर में हल्की-फुल्की बूंदाबांदी की संभावना जताई गई है। मौसम विशेषज्ञों की मानें तो दक्षिण मध्य महाराष्ट्र से लेकर कर्नाटक तक टर्फ लाइन (बादलों का समूह) बनी हुई है। ऐसे में उक्त क्षेत्र में नाम मात्र के लिए पानी बरस सकता है।

प्रथम चरण का नामांकन पत्र दाखिल करने के लिए उम्मीदवारों और कार्यकर्ताओं का हुजूम उमड़ पड़ा। भाजपा के वरिष्ठ नेता व केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कल बड़ी रैली निकाली और फिर नागपुर से नामांकन पत्र दाखिल किया। इसी प्रकार कल कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने नांदेड़ लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से नामाकंन पत्र दाखिल किया। इसी के साथ अन्य दलों के प्रत्याशियों ने कल अपने-अपने लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में नामाकंन पत्र दाखिल किया।

रखें ध्यान
-शरीर में पानी की कमी न होने दें। पर्याप्त मात्रा में पानी पीएं।
-खाने में हरी सब्जी और सलाद का इस्तेमाल करें।
-फलों व जूस का सेवन ज्यादा करें।
-सीधे धूप के संपर्क में आने से बचें। सिर को ढंक कर बाहर निकलें।

मौसम विभाग के अनुसार पश्चिमी दिशा में अधिक दबाव और सूर्य का विषुवत रेखा से ऊपर बढ़ने से गर्मी बढ़ी