पार्टनरशिप का पंगा, जानलेवा सिद्ध हुआ निवेश

पैसों का व्यवहार कई बार दोस्त को दुश्मन बना देता है। कुछ इसी तरह की घटना कल एंटॉपहिल पुलिस थाने की हद में घटी, जहां एक पूर्व मीडियाकर्मी के लिए अपने एक दोस्त के साथ पार्टनरशिप में होटल शुरू करना काल बन गया। मीडियाकर्मी द्वारा निवेश किए गए पैसे तथाकथित दोस्त एवं पार्टनर हजम कर गए। बाद में इसी को लेकर हुए विवाद में मीडियाकर्मी को अपनी जान भी गंवानी पड़ी।
बता दें कि एंटॉपहिल के एसएम रोड स्थित पेंटा गैलेक्सी नामक इमारत की ७वीं मंजिल पर रहनेवाले आनंद नारायण की कल उन्हीं के घर में हत्या कर दी गई। आनंद पहले एक अंग्रेजी अखबार और बाद में एक न्यूज चैनल के एकाउंट विभाग में काम करते थे साथ ही साथ वे ५ साल से होटल व्यवसाय में भी हाथ आजमा रहे थे। आनंद ने अपने एक मित्र सारंग पाथरकर के साथ पार्टनरशिप में परेल इलाके में `माऊरा बकरा’ नामक होटल शुरू किया था, इस होटल में आनंद ने डेढ़ करोड़ रुपए निवेश किए थे। होटल व्यवसाय जमने लगा तो दो साल पहले आनंद ने मीडिया की नौकरी छोड़ दी। बाद में सारंग होटल के हिसाब में गड़बड़ी करके फरार हो गया। सारंग की दगाबाजी के कारण आनंद को परेल में अपना होटल बंद करना पड़ा। बाद में आनंद ने दादर के शिवाजी पार्क इलाके में `माऊरो बकरा’ नाम से नया होटल खोल लिया था। बताया जा रहा है कि लगभग डेढ़ साल दूर रहने के बाद सारंग एक बार फिर आनंद के संपर्क में आया था। ९.३० से १२ बजे तक आनंद, सारंग और उनके मित्र तंबी ने साथ में शराब पी। जब आनंद शराब के नशे में धुत हो गया तो उसे छोड़ने के बहाने सारंग और तंबी, पेंटा गैलेक्सी गए और वहां सर और गर्दन पर धारदार हथियार से वार करके सारंग ने आनंद का कत्ल कर दिया। वारदात के बाद सारंग और तंबी मौके से फरार हो गए लेकिन घंटे भर बाद तंबी पुलिस थाने पहुंच गया और पुलिस को पूरी घटना की जानकारी दे दी। घटना के समय आनंद की पत्नी, बेटी और माता-पिता गांव गए थे। तंबी को हिरासत में लेकर पूछताछ करने के बाद पुलिस ने सारंग को पुणे से दबोच लिया है।