पार्षद की नजर पॉकिट पर नेताजी निकले मोबाइल चोर

उत्तर प्रदेश के एक ऐसे नेता को मुंबई की रेलवे पुलिस ने गिरफ्तार किया है जो मुंबई सहित पूरे देश में चलनेवाली एक्सप्रेस ट्रेनों में सफर करने के बहाने हाईप्रोफाइल यात्रियों को अपने भाई के साथ मिलकर लूटने का काम करता था। पकड़े गए आरोपियों का नाम हरबिंदर सुरेंद्र सिंह (३५) और दूसरे का नाम गौरव सुरेंद्र सिंह (३०) है, दोनों सगे भाई हैं। लुटेरों में एक पार्षद है। इस पार्षद की नजर यात्रियों के पॉकिट पर रहती थी। इतना ही नहीं ये नेताजी यात्रियों का मोबाइल भी पलक झपकते उड़ा देते हैं।

चौंकानेवाली बात तो यह है कि हरबिंदर सिंह उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिला हल्दौर का निर्दलीय नगर पार्षद है, जो यूपी में नेतागिरी करता है। पुलिस के मुताबिक दोनों पिछले पांच साल से मेल एक्सप्रेस ट्रेनों में चोरियां कर रहे थे। जानकारी के मुताबिक पकड़े गए दोनों आरोपी देश के किसी भी बड़े शहर के रेलवे स्टेशन से कहीं के लिए भी ट्रेन टिकट बुक करते हैं। पूरे ट्रेन में पहले घूम-घूमकर यह देखते थे कि कौन से यात्री के पास ज्यादा कीमती सामान हैं। उसके बाद रात को जब सब सो जाते थे, तब ये दोनों बैग, सूटकेस का लॉक तोड़कर सारा माल चोरी कर अगले स्टेशन पर उतर जाते थे। पिछले साल राजधानी एक्सप्रेस में भी एक यात्री से २५ लाख की चोरी कर फरार हो गए थे। बोरीवली जीआरपी पुलिस ने बताया कि एक फरवरी को बोरीवली में रहनेवाले चंद्रेश जवेरी और उनकी पत्नी दोनों गुजरात में एक शादी समारोह में शामिल होने के बाद लोकशक्ति एक्सप्रेस से गुजरात के नाडियात रेलवे स्टेशन से मुंबई आ रहे थे। उस दौरान गहने से भरा ट्रॉलीवाला बैग सीट के नीचे रखकर सो गए। मुंबई पहुंचकर जब बैग निकाले तो बैग का लॉक टूटा हुआ देख दंग रह गए। बैग से ७ लाख ८० हजार रुपए के गहने गायब थे।

दिल्ली, पुणे, नागपुर, इंदौर, सूरत, आंध्र प्रदेश जैसे शहरों में इनके खिलाफ मामले दर्ज हैं। आंध्र प्रदेश में अभी भी दोनों वांटेड हैं। नागपुर में एक बार दोनों गिरफ्तार भी हो चुके हैं। संजय पाटील (वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक/जीआरपी बोरीवली) के मार्गदर्शन में यह पता करने का प्रयास किया जाए रहा है कि इस गिरोह में और कौन-कौन शामिल हैं और कहां-कहां इन लोगों ने चोरियां की हैं?