" /> पालकमंत्री एकनाथ शिंदे के आदेश पर विधायक व शहरप्रमुख ने किया अस्पताल का दौरा : लापरवाह डॉक्टर पर दिया कार्रवाई का आदेश

पालकमंत्री एकनाथ शिंदे के आदेश पर विधायक व शहरप्रमुख ने किया अस्पताल का दौरा : लापरवाह डॉक्टर पर दिया कार्रवाई का आदेश

उल्हासनगर कैंप नंबर- ३ स्थित राज्य सरकार द्वारा संचालित मध्यवर्ती अस्पताल में प्रसव पीड़ा से कराह रही महिला को ड्यूटी पर तैनात लापरवाह डॉक्टर ने एक नहीं दो बार यह कहकर अस्पताल से लौटा दिया कि डिलिवरी में अभी काफी वक्त बाकी है। अस्पताल के चक्कर लगाते-लगाते महिला ने घर में ही बच्चे को जन्म दे दिया। अस्पताल की इस लापरवाही की जानकारी मिलने पर ठाणे जिले के पालकमंत्री एकनाथ शिंदे ने सोमवार को अंबरनाथ के विधायक व उल्हासनगर शहरप्रमुख को महिला की स्थिति का जायजा लेकर रिपोर्ट करने का आदेश दिया। शिवसेना के विधायक व शहरप्रमुख ने महिला वॉर्ड में जाकर जच्चा व बच्चा से भेंट कर अस्पताल प्रशासन को निर्देश दिए हैं कि डॉक्टर की लापरवाही को देखते हुए ऐसे डॉक्टर पर सख्त कार्रवाई की जाए।

उल्हासनगर के मध्यवर्ती अस्पताल के लिए इस तरह की यह कोई पहली घटना नहीं है, इसके पहले भी कई महिलाओं को प्रसूति के दौरान डॉक्टर की लापरवाही के चलते बच्चा मरने, प्रसूता महिला के मरने, समय पर उचित निर्णय न लेने के चलते घर मे प्रसूति होने का मामला प्रकाश में आया है। प्रसूता महिला के साथ की गई लापरवाही के चलते कई डॉक्टरों को न्यायालय के निर्णय पर सजा तक भुगतनी पड़ी है। मध्यवर्ती अस्पताल के लापरवाह डॉक्टरों के ऐसे रवैये के चलते अस्पताल बदनाम हो चला है। प्रसूति के दौरान महिला को लगवाए गए चक्कर फिर घर में हुई प्रसूति की जानकारी समाचार पत्रों व सोशल मीडिया से मिलने पर ठाणे जिले के पालकमंत्री के निर्देश पर अंबरनाथ के विधायक डॉक्टर बालाजी किणीकर व उल्हासनगर के शहरप्रमुख राजेंद्र चौधरी को अस्पताल में भर्ती महिला से मिलकर उसकी स्थिति का जायजा लेकर उचित निर्णय लेने को कहा है। पालकमंत्री के आदेश को मानते हुए दोनों ने अस्पताल जाकर महिला से भेंट कर डॉक्टर द्वारा दी गई यातना की जानकारी ली। डॉक्टर बालाजी किणीकर ने दोपहर का सामना को बताया कि प्रसूति के उपरांत माता व बच्चा स्वस्थ्य हैं। डॉक्टर पर जल्द से जल्द कठोर कार्रवाई करने का निर्देश अस्पताल के शल्य चिकित्सक डॉ. सुधाकर शिंदे को दिया। मध्यवर्ती  अस्पताल में दौरे के समय पूर्व नगराध्यक्ष सुनील चौधरी, अतिरिक्त शल्य चिकित्सक डॉ. जाफर तडवी आदि उपस्थित थे।