" /> पिता की कोरोना से मौत : खुद मां के साथ क्वारंटाइन सेंटर में है बेटा

पिता की कोरोना से मौत : खुद मां के साथ क्वारंटाइन सेंटर में है बेटा

सामाजिक संगठन ने किया पिता का अंतिम संस्कार
कहते हैं भगवान न जाने आदमी को जिंदगी में क्या-क्या दिन दिखाते हैं। कोरोना की इस महामारी के कारण लोग परेशान हैं। परेशानी के दौर में लोग इस कदर परेशान हैं कि उनकी दास्तान सुनकर कोई भी सहम जाए। पुणे में 35 साल के एक व्यक्ति की भी कुछ ऐसी ही दर्द भरी दास्तान है। पूरा परिवार कोरोना की चपेट में आ गया। कुछ लोग ठीक हो गए और कुछ अब भी अस्पताल में हैं लेकिन पिता इस बीमारी से नहीं बच पाए। दर्द का आलम ये है कि वो 35 वर्षीय व्यक्ति न तो अपने पिता का अंतिम संस्कार कर पाया और न ही मां को पिता के निधन की सूचना देने की हिम्मत जुटा पाया।
35 साल के सब्जी विक्रेता ने बताया कि उसके पिता का निमोनिया का इलाज हुआ था। इसके बाद 6 अप्रैल को उसके पिता कोरोना संक्रमित पाए गए। घर के सबसे बड़े सदस्य के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद डॉक्टरों की टीम ने परिवार के 12 अन्य सदस्यों के टेस्ट किए। इनमें दो बेटियां, भाई और पत्नी भी पॉजिटिव पाई गईं, जबकि उस व्यक्ति को उसकी मां और 9 साल के बेटे के साथ क्वारंटाइन कर दिया गया। इसी बीच 9 अप्रैल को जब उस व्यक्ति को अपने पिता के देहांत की खबर मिली तो वो इस पर यकीन नहीं कर पाया। इस गम के बीच एक और बड़ा झटका तब लगा जब पिता के अंतिम संस्कार में जाने की इजाजत भी इस व्यक्ति को नहीं मिली। तब एक सामाजिक संगठन ने उसके पिता का अंतिम संस्कार किया।