" /> ‘पीड़ितों के साथ सरकार मजबूती से खड़ी है’ – निसर्ग से हुए नुकसान की मुख्यमंत्री ने की समीक्षा बैठक

‘पीड़ितों के साथ सरकार मजबूती से खड़ी है’ – निसर्ग से हुए नुकसान की मुख्यमंत्री ने की समीक्षा बैठक

निसर्ग चक्रवात ने कोंकण सहित राज्य में कई स्थानों को नुकसान पहुंचाया है। इस नुकसान के पंचनामा का काम युद्ध स्तर पर किया जा रहा है और पीड़ितों को पिछले सप्ताह घोषित सहायता की तुलना में अधिक मदद दी जाएगी। पीड़ितों के साथ सरकार मजबूती से खड़ी है, ये बात मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने निसर्ग से हुए नुकसान की समीक्षा बैठक में कही।
निसर्ग चक्रवात से हुए नुकसान की समीक्षा बैठक में कल मुख्यमंत्री वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बोल रहे थे। इस वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में उपमुख्यमंत्री अजीत पवार, मदद व पुनर्वसन मंत्री विजय वडेट्टीवार, उच्च व तकनीकी शिक्षण मंत्री उदय सामंत, रायगड जिला पालक मंत्री कु. अदिति तटकरे, सांसद सुनील तटकरे, सांसद विनायक राऊत, मुख्य सचिव अजोय मेहता, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त मुख्य सचिव आशीष कुमार सिंह, प्रधान सचिव विकास खारगे, मदद व पुनर्वसन विभाग के सचिव किशोर राजे निंबालकर, कोकण विभागीय आयुक्त लोकेशचंद्र व संबंधित जिले के जिलाधिकारी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि महाराष्ट्र और कोकण के विकास के लिए जो करना होगा वह सब कुछ किया जाएगा। चक्रवात पीड़ितों को तत्काल मुआवजा प्रदान करने के लिए काम चल रहा है। इस दौरान प्रशासन ने भी अच्छा काम किया है। नुकसान पीड़ितों को तत्काल और उचित सहायता प्रदान करने के लिए युद्ध स्तर पर प्रशासन को मैदान पर काम करना जारी रखना चाहिए। पीड़ितों को अतिरिक्त सहायता प्रदान करने का सरकार का निर्णय आज जारी किया जाएगा और वितरण तुरंत शुरू होगा।  प्रशासन और जनप्रतिनिधियों को सरकार द्वारा दी गई मदद को अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने का प्रयास करना चाहिए। संकट कितना भी गंभीर क्यों न हो, सरकार लोगों के साथ है। कोकण में बागों को चक्रवात से काफी नुकसान पहुंचा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इन बागों को बचाने के लिए जल्द ही एक नई नीति बनाई जाएगी।