पीड़ित ने लिया पहचान आरोपी ने दे दी जान, दिंडोशी कोर्ट मामला

गोरेगांव-पूर्व, दिंडोशी अदालत में सुनवाई के दौरान पीड़ित बच्चे द्वारा आरोपी को पहचाने जाने के बाद उसने छठी मंजिल से कूद कर आत्महत्या कर ली। कुरार पुलिस मामले की जांच कर रही है।
बता दें कि मृतक विकास पवार घाटकोपर का रहनेवाला था। २०१५ में उसे एक पांच वर्षीय बच्चे के साथ अनैतिक अत्याचार करने के आरोप में पवई पुलिस ने गिरफ्तार किया था। कल उक्त मामले में सुनवाई के लिए विकास को आर्थर रोड जेल से दिंडोशी सेशन कोर्ट लाया गया था। कल पीड़ित बच्चा भी वहां आया था, जिसने जज के सामने उसे पहचान लिया था। उसके बाद विकास पवई पुलिस के सिपाहियों को प्यास लगे होने की बात कही। उसे जैसे ही पानी पिलाने के लिए ले जा रहे थे, तभी उसने कोर्ट की छठी मंजिल से छलांग लगा दी और उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई।