" /> पुलिसवालों को है घर का इंतजार

पुलिसवालों को है घर का इंतजार

राज्य में २,२०,००० पुलिस अधिकारी और कर्मचारी हैं। इनमें से ७८,००० लोगों को घर मुहैया कराया गया है। जबकि १,४१,००० पुलिस कर्मचारी और अधिकारी ऐसे हैं जो क्वॉर्टर से वंचित हैं। इन्हें आज भी घर का इंतजार है।
मुंबई शहर में ५०,००० के लगभग पुलिस अधिकारी और कर्मचारी हैं, इनमें से २२,००० पुलिस कर्मचारियों को रहने के लिए निवास उपलब्ध है। २८,००० पुलिसवालों के पास रहने के लिए सरकार की तरफ से अब तक घर मुहैया नहीं कराया गया है। पुलिस के एंटी करप्शन ब्यूरो ने पिछले साल पुलिस विभाग के १,१७६ पुलिसवालों को घूस लेते पकड़ा और उनके पास से अब तक एक करोड़ ८३ लाख रुपए जप्त किया गया। राज्य के सभी नगरपालिका, बेस्ट, पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड, हायर टेक्निकल विभाग, पोर्ट विभाग आदि सरकारी कार्यालयों में एक भी भ्रष्टाचार का मुकदमा २०१९ में दर्ज नहीं किया गया है। राज्य में बीते वर्ष एंटी करप्शन विभाग की तरफ से की गई कार्यवाही में सबसे पहला नंबर पुणे का रहा। उसके बाद नासिक, संभाजीनगर, नागपुर, ठाणे, अमरावती नांदेड, मुंबई इन जगह पर एंटी करप्शन ने भ्रष्टाचार के ८९१ मामलों में कार्रवाई की है।