पुलिस के लिए पहेली बनी सिर कटी लाश

नायगांव में दिल दहला देनेवाली घटना सामने आई है। मुंबई-अमदाबाद महामार्ग के मालजीपाड़ा जेटी के पास प्लास्टिक की बोरीr में एक लड़की की लाश पुलिस ने बरामद की है। बदमाशों ने लड़की की हत्या करके उसकी पहचान छुपाने के लिए उसकी सिर को कहीं और फेंक दिया है। वालिव पुलिस हत्या का मामला दर्ज कर लड़की की पहचान करने की कोशिश कर रही है। यह लाश सिर न होने के कारण पुलिस के लिए पहेली बन गई है।
सोमवार रात करीब साढ़े १०.३० बजे पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना मिली थी कि नायगांव-पूर्व समुद्र जेटी के किनारे प्लास्टिक की बोरीr में लड़की की सिर कटी लाश पड़ी है। लड़की की उम्र २०-२५ साल के आस-पास है। उसके शरीर पर धारदार हथियार से काटने के निशान हैं। लड़की ने हाथ पर एक लाल रंग का रक्षा बांधा हुआ है। ऐसी कोई चीज नहीं मिली, जिससे उसकी पहचान हो सके।
पुलिस की मानें तो एक-दो दिन पहले हत्या की गई है। हालात देखकर अंदाजा लगाया जा रहा है कि हत्या करने के बाद शव को बोरी में भरकर समुद्र में फेंक दिया गया। बहते पानी के कारण बोरी जेटी के पास पत्थर में फंस गई, जिसके बाद स्थानीय लोगों ने देखा और पुलिस को सूचना दी। लड़की की हालत देखकर पुलिस ने आशंका जताई है कि उसके साथ बलात्कार भी किया गया होगा।
शव की पहचान के लिए पुलिस आस-पास के थानों से संपर्क कर रही है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि हत्या किसी दूसरी जगह पर की गई। शव का आधा हिस्सा नदारद होने से पहचान करने में पुलिस को मुश्किल हो रही है।
मामला सुलझाने के लिए पालघर जिला पुलिस ने लोकल क्राइम ब्रांच के साथ स्थानीय पुलिस की टीम बनाई है। पुलिस मुंबई समेत ठाणे, कल्याण, दहिसर मीरा रोड में जांच कर रही है।