पुलिस को मिला ‘कुंभ’ फल, ८ राज्य, १४ शहरों में भटकने के बाद दबोचा गया महाठग

कुंभ में स्नान फलदायी माना गया है। बीकेसी पुलिस को कुंभ में स्नान का पुण्यफल बहुत जल्दी मिल गया। दरअसल २६ करोड़ रुपए के हीरों की ठगी करनेवाले जिस महाठग को पुलिस ८ राज्यों एवं १४ शहरों में डेढ़ महीने से ढूंढ रही थी, वह कुंभ स्नान के तुरंत बाद पुलिस के हत्थे चढ़ गया था। बता दें कि बीकेसी स्थित डायमंड मार्वेâट (भारत डायमंड ब्रॉस) में ब्रोकर का काम करनेवाला यतीश परेश फिचाड़िया डायमंड व्यापरियों का २६.९१ करोड़ रुपए का हीरे लेकर फरार हो गया। डीसीपी अनिल कुंभारे ने बताया कि विरार निवासी यतीश, डायमंड मार्वेâट में ८साल से काम कर रहा था।
 बिना मोबाइल के बगैर भागा
वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक कल्पना गाडेकर के मार्गदर्शन तथा पीआई प्रदीप खानविलकर के नेतृत्व में एपीआई सतीश बोराटे, पीएसआई गणेश तोडकर और अमित उतेकर की टीम ४ समूहों में यतीश को ढूंढ रही थी। यतीश अपना मोबाइल साथ नहीं ले गया था। वह राह चलते लोगों से याचना करके मोबाइल मांगता था और पत्नी तथा दोस्तों को फोन करता था। उन फोन कॉलों का पीछा करती हुई पुलिस ८ राज्यों के अजमेर, दिल्ली, चंडीगढ़, शिमला, वृंदावन, आगरा, लखनऊ, भुवनेश्वर, विशाखापट्टनम, हैदराबाद तथा बिहार के कुछ शहरों में होते हुए प्रयागराज में जाकर कुंभ स्नान भी कर आई।
साधु बनकर कुंभ में रहा
डीसीपी कुंभारे ने बताया कि आरोपी पुलिस को चकमा देने के लिए बार-बार नाम, हुलिया और ठिकाना बदल रहा था। कुंभ मेले में वह कुछ दिन रहा लेकिन पुलिस जब प्रयागराज पहुंची तो वह वहां से भी निकल चुका था। पुलिस को पता चला कि यतीश समर्पण एवं जमानत के बारे में वकील से मिलने मुंबई आ रहा है। पुलिस ने कल्याण रेलवे स्टेशन पर उसे दबोच लिया।
७ लोगों ने दिया साथ
इस मामले यतीश का साथ देनेवाले सुरेश मद्धेशिया, कामिल कुरैशी, केतन परमार, इमरान शमशेर खान और विशाल श्रीवास्तव को पुलिस ने पहले ही गिरफ्तार कर लिया था। २९ जनवरी को पुलिस ने मुख्य आरोपी यतीश एवं उसके खास सहयोगी राज मंसूरी को भी दबोच लिया। यतीश ने राज और केतन को ५ से १० फीसदी तक हिस्सा देने तथा अन्य लोगों को ५ से ६ लाख रुपए तक देने का लालच दिया था। पुलिस ने केतन और राज मंसूरी के घर में छिपाए गए करीब २० करोड़ रुपए के हीरे और ३८ लाख रुपए नकद बरामद कर लिए हैं।

करीब २७ करोड़ रुपए के हीरों की ठगी
मुख्य आरोपी बदलता रहा नाम, हुलिया और ठिकाना
प्रयाग महाकुंभ में साधु बनकर छिपा रहा
७ आरोपी दबोचे गए