पूरे पूर्वांचल में भारी बारिश, जगह जगह गिरे मकान, मलबे में दबकर कई की मौत

वाराणसी सहित पूरे पूर्वांचल में भारी बारिश लोगो का जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। गुरुवार की रात से लगातार बारिश का दौर शुक्रवार को पूरे दिन जारी रहा। मौसम विभाग के अनुसार यह बारिश अगले दो दिनों तक जारी रहेगा।इस सीजन में अब तक की सबसे अच्छी बरसात मानी जा रही है। लगातार कई घंटों से झमाझम बारिश होने से शहर के कई निचले इलाके में जलभराव हो गया।इसके अलावा कई जगहों पर मकान भी गिर गए है।

चोलापुर थाना क्षेत्र के तेवर गांव में देर रात भारी बारिश के चलते मकान गिरने की वजह से, सो रहे रामखेलावन 60वर्ष की दबने से मौके पर मौत हो गई । वहीं राजापुर गांव में कांताराम 54वर्ष की घर की दीवाल गिरने से मौके पर मौत हो गयी है। जबकि पड़ोस के जनपद भदोही में बारिश के चलते गिरे मकान में पति पत्नी व चंदौली जनपद के अलीनगर थाना के बरौली गांव में कच्चा मकान गिरानी मलबे में दबकर पति पत्नी व बेटी सहित तीन लोगों की मौत हो गयी है। हरहुआ बड़ागांव थाना क्षेत्र के एक गांव में कल से हो रही लगातार बारिश के कारण कच्चा मकान गिर गया जिससे घर में रखा सामान बर्बाद हो गया,जबकि घर वाले बाल बाल बच गए। पहले गंगा के रौद्र रूप और अब भगवान इन्द्र के इस तांडव को देखते हुए काशी सही पूर्वांचल के लोग भयभीत हो गए है।इस स्थिति को ध्यान में रहते वाराणसी के जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह ने 27 व 28 सितम्बर को जनपद के सभी स्कूलों को बंद करने का आदेश दे दिया है।

मौसम विभाग के अनुसार उत्तर प्रदेश के 16 जिलों में गुरुवार तथा शुक्रवार को भारी बारिश होगी। मौसम विभाग को इसको लेकर चेतावनी भी जारी कर दी है। मौसम विभाग ने प्रदेश की राजधानी लखनऊ के साथ कन्नौज, लखीमपुर खीरी,सीतापुर, रायबरेली, अमेठी, सुल्तानपुर, बाराबंकी, गोंडा, बहराइच, श्रावस्ती, संत कबीर नगर, अयोध्या, सिद्धार्थनगर, बस्ती अंबेडकरनगर तथा पास के क्षेत्र में मध्यम से भारी बारिश की चेतानवनी जारी की है। मौसम विभाग की इस चेतावनी के बाद से जिला प्रशासन ने इंतजाम करना शुरू कर दिया है।
वाराणसी सहित पूर्वांचल में गुरुवार की सुबह भी बारिश हुई थी । इससे पहले बुधवार की रात को रिमझिम फुहार होती रही। इसके कारण पिछले दो दिनों से मौसम में ठंड का भी असर लोगो ने महसूस किया। लोग एसी व कूलर की बजाय अब पंखे की हवा पर आ गए हैं,मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार अगर तेज बारिश इसी तरह जारी रही तो इस बार ठंडी का मौसम भी जल्दी शुरू हो सकता है। वैसे भी तापमान लगातार गिरते जा रहा है।