" /> पूर्वी यूपी में अब अफसरों को जकड़ रहा कोरोना,फैली दहशत!

पूर्वी यूपी में अब अफसरों को जकड़ रहा कोरोना,फैली दहशत!

•प्रतापगढ़ के एडीएम व आजमगढ़ के सीएमओ परिवार सहित संक्रमित
• अंबेडकरनगर के सीएमओ की हो चुकी है मौत

यूपी में अफसरशाही भी अब कोरोना की चपेट में आती जा रही है। रविवार को प्रतापगढ़ में एडीएम व आजमगढ़ में डिप्टी सीएमओ भी जांच में सपत्नीक संक्रमित पाए गए। जबकि अंबेडकरनगर जिले के सीएमओ डॉ एसपी गौतम की पहले ही संक्रमण से मौत हो चुकी है। इन घटनाओं अफसर दहशतजदा हो गए हैं।

पूर्वांचल के आजमगढ़ जिले में उप मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ मनीष साहू को कोविड-१९ का भी प्रभार है। वे दिन-रात कोरोना संक्रमितों के इलाज में जुटे हुए थे। इसी दौरान कब चूक हुई और वो स्वयं संक्रमित हो गए वे भांप न सके। शनिवार को जांच के बाद डिप्टी सीएमओ साह और उनकी पत्नी, दोनों ही संक्रमित पाए गए। इससे आजमगढ़ जिला प्रशासन व स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया है। फिलहाल रिपोर्ट मिलते ही डॉ. साह व उनकी पत्नी को आइसोलेट कर दिया गया है। स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार डॉ. साह करीब पांच दिन पहले से क्वारेंटीन थे। क्योंकि उन्हें इसका आभास हो गया था। इसी के साथ जिले में संक्रमितों की संख्या २२७ पर जा पहुंची है। इनमें ५३ एक्टिव मरीज हैं।

प्रयागराज मंडल के प्रतापगढ़ जिले के प्रशासनिक अमले में भी अफसरों के मध्य रविवार को कोरोना की दहशत फैल गई। यहां के अपर जिलाधिकारी शत्रोहन वैश्य कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गए हैं। उन्हें दो दिन से बुखार था। जिस पर जांच के लिए नमूने लैबोरेटरी भेजे गए तो संक्रमण की पुष्टि हुई। संक्रमित एडीएम कोविड-१९ को लेकर गठित डीएम की टीम-११ के सदस्य हैं। स्वयं टीम-११ के सदस्य की रिपोर्ट पॉजिटिव आ जाने से प्रशासनिक अमले में हड़कंप मच गया है। उन्हें जिलाअस्पताल के कोविड वार्ड में भर्ती करा दिया गया है। साथ ही शहर के सिविल लाइन स्थित जिस कंपनी बाग एरिया में उनका आवास है उसे कन्टेनमेंट जोन घोषित कर आवागमन के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया है। डीएम रूपेश कुमार ने बताया कि अपर जिलाधिकारी व उनके परिवार के संपर्क में आने वाले समस्त व्यक्तियों और अधिकारियों, कर्मचारियों की जांच कराई जाएगी। उधर प्रतापगढ़ में रविवार को कोरोना से सातवीं मौत हो जाने से हड़कंप रहा। लखनऊ के पीजीआई में देर रात संक्रमित बुजुर्ग महिला ने दम तोड़ दिया। इसके पूर्व १४ जून को इस महिला की बहू भी कोरोना संक्रमण के चलते जान गंवा चुकी है। जिले में अब संक्रमण का आंकड़ा १११ पर आ पहुंचा है। जिनमे १०३ केस रिकवर भी हो चुके हैं जबकि इस वक़्त सक्रिय केस सिर्फ ३ रह गए हैं। वहीं सुल्तानपुर जिले में करीब पखवारे भर पूर्व कोविड एल-१ अस्पताल में ड्यूटी कर रहे दो सरकारी चिकित्सक व जिला अस्पताल के एक फिजियोथेरेपिस्ट भी संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। फिलहाल तीनों के स्वस्थ हो जाने के बाद स्वास्थ्य महकमे ने राहत की सांस ली है।