" /> पेड़ों के बीच डंपिंग पॉइंट!

पेड़ों के बीच डंपिंग पॉइंट!

पेड़-पौधे और हरा-भरा वातावरण किसी भी शहर की सुंदरता में चार चांद लगाते हैं लेकिन मुंबई के सांताक्रुज में पेड़ों के आसपास एक अलग ही नजारा देखने को मिल रहा है। इसके लिए प्रशासन द्वारा डस्टबिन उपलब्ध नहीं करवाए जाने को जिम्मेदार समझा जाए या फिर लोगों की लापरवाही को जिम्मेदार ठहराया जाए। कारण चाहे जो भी हो लेकिन इसकी वजह से शहर में गंदगी और कचरा बढ़ता जा रहा है। प्रदूषण अधिक पैâल रहा है और इससे पेड़-पौधों को हानि पहुंच रही है।
मुंबई के सांताक्रुज (प.) स्थित सरोजिनी नायडू रोड पर लोगों ने पेड़-पौधों के आसपास स्थित खाली जगह को डंपिंग पॉइंट बना लिया है। लोगों द्वारा अपने घरों से निकलकर या फिर राह चलते इन स्थानों पर बिना ध्यान दिए कचरा फेंक दिया जाता है, जिसके चलते एक तरफ जहां शहर की सुंदरता खराब होती है वहीं दूसरी तरफ इससे गंदगी और प्रदूषण भी बढ़ रहा है। खुले में कचरा पैâला दिए जाने से इन स्थानों पर मक्खी, मच्छर पनपते हैं, जो उन्हीं के घरों में घुसकर उन्हीं को नुकसान पहुंचाते हैं। ऐसे में कुछ पर्यावरण प्रेमियों का ये कहना है कि मनपा प्रशासन द्वारा इस विषय को संज्ञान में लेकर कचरा पैâलानेवालों पर कार्रवाई होनी चाहिए। साथ ही पेड़ों के चारों तरफ एक छोटी दीवार बना देनी चाहिए, ताकि लोग आसपास गंदगी न पैâलाएं। मनपा के हेरिटेज डिपार्टमेंट द्वारा इस प्रकार पेड़ों के चारों तरफ छोटी दीवार बनाने का कार्य दक्षिण मुंबई में किया गया है। यदि इसी तरह ये कार्य मुंबई के अन्य भागों में भी किया जाए तो प्रदूषण पैâलने से बचेगा और शहर की सुंदरता भी बढ़ेगी। आसपास के स्थानों में हाउसिंग सोसाइटीज मौजूद होने के कारण इस कचरे में पनपनेवाले मक्खी-मच्छर लोगों के घरों तक आसानी से पहुंच जाते हैं। इसके अलावा ये मक्खी और मच्छर रास्ते से गुजरनेवालों को भी अपना शिकार बनाते हैं। मुंबई में इस तरह खुलेआम कचरा पैâलाने से होनेवाली गंदगी चिंता का एक बड़ा विषय है। प्रशासन को गंदगी पैâलानेवालों पर तुरंत कार्रवाई करनी चाहिए और शहर में पर्याप्त मात्रा में डस्टबिन उपलब्ध करवाने चाहिए।
मैं इन पेड़ों के पास से रोजाना गुजरता हूं। इस तरह लोगों द्वारा गंदगी पैâलाए जाने से यहां की प्राकृतिक सुंदरता नष्ट हो रही है। प्रशासन को कचरा साफ कर गंदगी पैâलानेवालों पर जल्द-से-जल्द कार्रवाई करनी चाहिए।
-चैतन्य कुलकर्णी (निवासी)
आते-जाते लोग इस स्थान पर कूड़ा-कचरा देखकर यहां और अधिक गंदगी पैâला जाते हैं। पेड़ों के नीचे का स्थान डंपिंग पॉइंट बन गया है। इस कचरे के कारण मक्खी, मच्छर और बीमारियां पनपती हैं, जो लोगों को बीमार बनाती हैं। प्रशासन को ये स्थान साफ करवाकर गंदगी पैâलानेवालों पर कार्रवाई करनी चाहिए।
-प्रशांत मोरे (निवासी)