" /> पैसे के लिए बुजुर्ग का बांधा हाथ-पैर!, एमपी अस्पतालकर्मियों की दादागिरी

पैसे के लिए बुजुर्ग का बांधा हाथ-पैर!, एमपी अस्पतालकर्मियों की दादागिरी

-प्रशासन ने डीएम को सौंपी रिपोर्ट
-अस्पताल प्रबंधन को नोटिस जारी

मध्य प्रदेश के शाजापुर जिले में एक निजी अस्पताल के प्रबंधन की अमानवीयता सामने आई है। यहां 80 साल बुजुर्ग के परिजन जब उपचार के लिए जरूरी रकम नहीं जमा कर पाए तो उसके हाथ और पैर ही पलंग से बांध दिए गए। प्रशासन ने इस मामले की जांच कराई है।
शीला दांगी ने बताया कि यहां के एक निजी नसिंर्ग होम में उसने अपने बुजुर्ग पिता लक्ष्मी नारायण दांगी (80) को लगभग एक सप्ताह पहले भर्ती कराया गया था। उन्हें पेट की तकलीफ है। अस्पताल प्रबंध ने इलाज के लिए पहले छह हजार, फिर पांच हजार रुपए मांगे, जिसे जमा करा दिया गया।

शीला का आरोप है कि शनिवार की सुबह उसने पैसे न होने पर अस्पताल से छुट्टी के लिए कहा तो कर्मचारियों ने पहले फाइल देने में आना कानी की और बाद में 11,270 रुपए की मांग की। इतना ही नहीं पेशाब की नली भी नहीं निकाली और बाद में पलंग से हाथ-पैर बांध दिए।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रकाश विष्णु फुलंबीकर ने रविवार को बताया कि इस मामले की जांच के लिए जिलाधिकारी ने अनुविभागीय अधिकारी, राजस्व (एसडीएम) के नेतृत्व में तीन सदस्यीय दल गठित किया, जिसमें दो चिकित्सक है। इस दल ने जांच रिपोर्ट जिलाधिकारी को सौंप दी है। वहीं निजी अस्पताल प्रबंधन को नोटिस जारी किया गया है।’