" /> प्रतापगढ़ में युवक को पेड़ से बांधकर जिन्दा जलाया

प्रतापगढ़ में युवक को पेड़ से बांधकर जिन्दा जलाया

•आक्रोशित ग्रामीणों का पुलिस पर पथराव, फूंके सरकारी वाहन
•एडीजी व उच्चाधिकारियों के पहुंचने पर थमा बवाल

यूपी के प्रतापगढ़ जिले में कुछ लोगों ने एक युवक को पेड़ से बांधा और फिर पेट्रोल डालकर जिंदा फूंक दिया। युवक की मौके पर ही मौत हो गई। उसके बाद अधजले शव को गांव के बाहर नहर की पटरी पर फेंक दिया।मौके पर जब थानेदार पहुंचे तो आक्रोशित परिजनों संग ग्रामीण पुलिस पर पथराव करने लगे। जिससे पुलिसकर्मियों को जान बचाने के लिए हवाई फायरिंग करते हुए भागना पड़ा। नाराज लोगों ने पुलिस के दो वाहनों को आग के हवाले कर दिया। थानेदार की सूचना से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। पुलिस कप्तान भी मय फोर्स व पीएसी मौके पर पहुंचे। इसबीच आईजी व एडीजी भी घटनास्थल पर पहुंच गये। पुलिस के अथक प्रयास से घंटेभर बाद बवाल शांत हुआ। फिलहाल गांव में तनाव पूर्ण माहौल है। इस मामले में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है। फतनपुर थाना क्षेत्र के भुजैनी गांव निवासी रणविजय पटेल का बेटा अंबिका पटेल (25) हाल ही में जेल से छूटा था। उस पर गांव की एक युवती को प्रेमजाल में फंसाकर वीडियो वायरल करने का आरोप था।

पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने उसे जेल में भेजा था। पीड़िता इन दिनों कानपुर में सिपाही के पद पर कार्यरत है। बताया गया कि सोमवार को अंबिका घर से निकला। शाम तक वापस नहीं लौटा तो परिजन उसकी खोजबीन करने निकले। गांव से होकर गुजरने वाली नहर की पटरी पर उसका अधजला शव पाया गया। युवक के परिजनों का आरोप है कि युवती के परिजनों ने उसे पेड़ से बांधकर मारा-पीटा और पेट्रोल डालकर जिन्दा जला दिया। नहर की पटरी पर अधजला शव मिलने पर की सूचना पर थाना प्रभारी दलबल के साथ पहुंचे तो आक्रोशित परिजनों संग ग्रामीणों ने पुलिस टीत पर पथराव शुरू कर दिया। ग्रामीणों का उग्र रूप देखकर पुलिस कर्मी वाहन छोड़कर हवाई फायरिंग करते हुए भाग निकले। आक्रोशित ग्रामीणों ने पुलिस के वाहनों को आग के हवाले कर दिया। पथराव में कई पुलिस घायल हो गये। थाना प्रभारी की सूचना पर पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह कई थानों की फोर्स व पीएसी के जवानों के साथ मोर्चा संभाला। इस बीच सूचना मिलने आईजी रेंज प्रयागराज कबीन्द्र प्रताप सिंह व एडीजी प्रेम प्रकाश भी मौके पर पहुंच गये। पुलिस के अथक प्रयास के बाद किसी तरह बवाल पर काबू पाया जा सका। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर अन्त्य परीक्षण के लिए भेजवाया और इस मामले में हरिशंकर पटेल व शिवम पटेल को गिरफ्तार कर लिया है। तनाव के मददेनजर गांव में पुलिस का पहरा लगा दिया गया है। इस मामले में मृतक के परिजनों की तहरीर पर हत्या की रिपोर्ट जहां दर्ज की गई है, वहीं पुलिस ने भी पथराव व वाहन फूंकने वालों के विरूद्ध स्वयं वादी बनकर रिपोर्ट दर्ज कराई है।