" /> प्रतिदिन दर्जनों बीमारों को खुद की गाड़ी से अस्पताल पहुंचाता है पुलिसवाला!

प्रतिदिन दर्जनों बीमारों को खुद की गाड़ी से अस्पताल पहुंचाता है पुलिसवाला!

समय पर एंबुलेंस न मिल पानेवाले गरीब लाचार असहाय लोगों को खुद किराए पर ओमनी वैन लेकर अस्पताल तक पहुंचानेवाले पुलिस कर्मचारी की लोग जोरदार प्रशंसा कर रहे हैं। गौरतलब है कि तेजस सोनवणे नामक पुलिस कर्मचारी कफपरेड पुलिस स्टेशन में कार्यरत है।

गत दिनों एक पेशेंट को समय पर एंबुलेंस न मिल पाने से उक्त मरीज की हालत चिंताजनक हो गई थी। यह मंजर तेजस सोनवणे ने अपनी आंखों से देखा तो रो दिया था। उसके बाद उसने अपने खुद के पैसे से एक दोस्त की ओमनी वैन किराए पर ली। उसके बाद से उक्त पुलिस कर्मचारी रोज दर्जनों गरीब जरूरतमंद लोगों को मुफ्त में अस्पताल तक पहुंचाने का काम शुरू कर दिया। कुलाबा के कफपरेड इलाका हो या कोई अन्य ठिकाना हो अपनी ड्यूटी खत्म करने के बाद तेजस उक्त ओमनी से पेशेंट को अस्पताल पहुंचाने का काम कर रहा है। इतना ही नहीं वह रोज समय से अपनी ड्यूटी का निर्वाह भी करता है। इस बात की भनक जब उसके सीनियर व स्थानीय सहायक पुलिस आयुक्त व पुलिस उपायुक्त को लगी तो सभी ने उसे प्रोत्साहन दिया। सीनियर ने यह कहकर उसकी प्रशंसा की है कि तेजस जैसा पुलिस कर्मचारी हर पुलिस थाने में हो तो कोई भी लाचार, बीमार, अनाथ एंबुलेंस के लिए अपना दम नहीं तोड़ सकता है। यह एक सराहनीय काम है। इसी तरह गोवंडी पुलिस स्टेशन में कार्यरत राजेंद्र घोरपड़े ने भी गत दिनों अपनी कमाई में से 25 हजार मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा करने के साथ-साथ हजारों लोगों में 15 दिन तक चलने लायक राशन का किट हजारों गरीबों में बांटी था, जिसकी अतिरिक्त पुलिस आयुक्त गौतम लखवी व पुलिस उपायुक्त एसके मीणा ने प्रशंसा की थी।