…प्रत्यक्ष पर्दे पर देखो! – उद्धव ठाकरे

‘ठाकरे’ फिल्म देखना अपने आप में एक अनुभव है। इस अनुभव को शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता है। इसका अनुभव लोग स्वयं इस फिल्म को प्रत्यक्ष रूप से देखकर लें। ऐसी भावना शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने व्यक्त की।
हिंदूहृदयसम्राट शिवसेनाप्रमुख श्री बालासाहेब ठाकरे के जीवन पर आधारित बहुचर्चित ‘ठाकरे’ फिल्म की स्पेशल स्क्रीनिंग बुधवार को वरली स्थित अटरिया मॉल के आयनॉक्स सिनेमाघर में हुई। इस दौरान ठाकरे परिवार सहित फिल्म और राजनीतिक क्षेत्र के दिग्गजों ने कल यह फिल्म देखी। फिल्म को देखने के बाद उद्धव ठाकरे ने मीडिया से बातचीत की।
इस दौरान उन्होंने ‘ठाकरे’ फिल्म की टीम की सराहना की। उन्होंने कहा कि मैंने ‘ठाकरे’ फिल्म सिर्फ देखी ही नहीं बल्कि उसका अनुभव लिया है। शिवसेनाप्रमुख जैसे महान व्यक्तित्व पर फिल्म बनाना मतलब आसमान को  कैनवास पर उतारना जैसे चुनौती भरा कार्य है जिसे संजय राऊत ने बखूबी निभाया। उद्धव ठाकरे ने कहा कि शिवसेनाप्रमुख की जिंदगी सभी ने देखी है। यह इतिहास वर्षों पुराना नहीं है। हम सभी को इसका अनुभव है। शिवसेनाप्रमुख मतलब हिम्मत और ताकत। उन पर फिल्म बनाना उतना ही हिम्मत भरा काम है और वह काम संजय राऊत ने अप्रतिम तरीके से किया है। इस मौके पर श्रीमती रश्मि उद्धव ठाकरे, शिवसेना नेता व युवासेनाप्रमुख आदित्य ठाकरे, शिवसेना नेता-सांसद व फिल्म निर्माता संजय राऊत, अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी, अभिनेत्री अमृता राव सहनिर्माता पूर्वशी राऊत, विधिता राऊत, निर्देशक अभिजीत पानसे, सुजीत सरकार, रोहित शेट्टी, मधुर भंडारकर, गायक सुरेश वाडकर, पद्मा वाडकर, एड. गुरु भरत दाभोलकर, शिल्पा तुलसकर, शिवसेना नेता मनोहर जोशी, शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे, गजानन कीर्तिकर, शिवसेना सचिव व सांसद अनिल देसाई, आदेश बांदेकर, विधायक नीलम गोर्‍हे, सुनील राऊत, सुनील शिंदे, रवींद्र वायकर, वर्षा राऊत, सुचित्रा बांदेकर, संगीतकार रोहन रोहन, वायकॉम १८ के सीईओ अजीत अंधारे, बिजनेस हेड निखिल साने, कार्निवल मोशन पिक्चर्स के अध्यक्ष श्रीकांत भसी, इसाक बागवान आदि उपस्थित थे।