प्रबोधन प्रकाशन पतसंस्था की वार्षिक सर्वसाधारण सभा संपन्न

प्रबोधन प्रकाशन कर्मचारी सहकारी पतसंस्था की वार्षिक सर्वसाधारण सभा का आयोजन वाशी के सामना संकुल में बड़े ही उत्साह के साथ मनाया गया, जिसमें शिवसेना नेता एड. लीलाधर डाके व शिवसेना नेता-सांसद व दैनिक ‘सामना’ के कार्यकारी संपादक संजय राऊत प्रमुख अतिथि के तौर पर उपस्थित थे।
वर्ष १९९७ में स्थापित हुए प्रबोधन प्रकाशन सहकारी पतसंस्था की २१वीं सर्वसाधारण वार्षिक सभा ३ अगस्त को वाशी स्थित सामना संकुल सभागृह में हुई। इस अवसर पर संस्था के सदस्य व उनके परिवार बड़ी संख्या में उपस्थित थे। इस अवसर पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए सांसद राऊत ने कहा कि हिंदूहृदयसम्राट शिवसेनाप्रमुख बालासाहेब ठाकरे ने दैनिक सामना, मार्मिक व दोपहर का सामना को एक परिवार की तरह देखा। वही नजरिया आज शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे का भी है। जिसके चलते सामना, मार्मिक व ‘दोपहर का सामना’ के कर्मचारियों की कर्मभूमि है। मैं यदि शिवसेना का नेता व सांसद हूं तो भी मेरी देश में पहचान दैनिक सामना के कार्यकारी संपादक के रूप में ज्यादा है क्योंकि सामना में केवल राज्य में ही नहीं पूरे देश में तूफान निर्माण करने की ताकत है, ऐसा भी सांसद संजय राऊत ने स्पष्ट किया। सभा को संबोधित करते हुए शिवसेना नेता एड. लीलाधर डाके ने कहा कि प्रबोधन प्रकाशन कर्मचारी पतसंस्था अब अपनी ऊंचाई पर है। संस्था ने ‘अ’ दर्जा का मान कायम किया है और अपने नफा में भी बढ़ोत्तरी की है। ऐसे ही इस संस्था की प्रगति होती रहे यह मेरी कामना है पतसंस्था के संचालकों को शुुभेच्छा है। इस कार्यक्रम के समय प्रबोधन प्रकाशन समूह के विशेष कार्यकारी अधिकारी राजेंद्र भागवत, प्रबोधन प्रकाशन प्रा. लि. के संचालक विवेक कदम, संजय वाडेकर, वितरण महाव्यवस्थापक दीपक शिंदे, पतसंस्था के अध्यक्ष आनंद संकपाल, सभी संचालक व कर्मचारी भारी संख्या में उपस्थित थे।