" /> प्राथमिक कक्षा के विद्यार्थियों को होगी ऑनलाइन पद्धति से समस्या

प्राथमिक कक्षा के विद्यार्थियों को होगी ऑनलाइन पद्धति से समस्या

कोरोना के बढ़ते प्रभाव के कारण स्कूल, कॉलेज काफी समयावधि के लिए बंद किए गए हैं, जिससे लगभग सभी विद्यालयों ने बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाई के लिए प्रेरित किया है, ताकि पाठ्यक्रम समयानुसार पूर्ण हो सके। लेकिन इसमें सबसे ज्यादा समस्या का सामना प्राथमिक कक्षा के विद्यार्थियों को करना पड़ सकता है। साथ ही कुछ अभिभावकों को भी महंगे फोन या लैपटॉप बच्चों को उपलब्ध करा पाना भी मुश्किलों से भरा साबित होगा।
ऐसे में कल्याण-डोंबिवली शिवसेना के पूर्व नगरसेवक हर्षवर्धन पलांडे ने कहा है कि छोटी कक्षा के विद्यार्थी जब स्कूल में जाकर पढ़ाई करते हैं तब तो उन्हें समस्या होती ही है तो ऑनलाइन पढ़ाई उनके लिए और भी ज्यादा कठिन साबित होनेवाली है। उन्होंने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री से यह अपील की है कि ऐसे बच्चों के लिए कोई अन्य उपाय किए जाएं। उन्होंने कहा कि अनेकों ऐसे माता-पिता हैं, जिनके पास अब भी स्मार्ट फोन उपलब्ध नहीं है तथा वे गरीब हैं। ऐसे में यदि उनके दो बच्चे पढ़ रहे हैं तो वे स्मार्ट फोन की व्यवस्था कैसे करेंगे? साथ ही इस समय की परिस्थिति के अनुसार लोगों का घर चलाना मुश्किल हो रहा है तो वे स्मार्ट फोन कहां से लाएंगे। उन्होंने सरकार से यह अपील भी की है कि अगले 6 माह तक कोई भी विद्यालय फीस न ले तथा अगर फीस के लिए जबरदस्ती करते हैं तो उन पर कठोर कानूनी कार्यवाही हो, ऐसा आदेश भी जारी करें।