प्रिंसिपल बोली ब्रांडी लेकर टूर पर चलो!

मालाड स्थित एमकेईएस लॉ कॉलेज का `इंडस्ट्रीयल टूर’ अब काफी चर्चा में है। नैनीताल टूर पर जा रहे विद्यार्थियों का आरोप है कि प्रिंसिपल ने कहा कि वहां ठंड बहुत है इसलिए अपने साथ `ब्रांडी’ लेकर चलना। प्रिंसिपल के इस वक्तव्य से छात्रों में काफी रोष है। इस मुद्दे को लेकर स्टूडेंट लॉ कॉउंसिल ने मुंबई यूनिवर्सिटी (एमयू) के वाइस चांसलर को मेल के जरिए लिखित शिकायत भी भेजी है।
बता दें कि १२ से १८ फरवरी के दरम्यान एमकेईएस लॉ कॉलेज के विद्यार्थियों का इंडस्ट्रीयल टूर नैनीताल जानेवाला है। इस टूर में छात्र और छात्राएं भी बड़ी संख्या में जानेवाली हैं। जो छात्राएं दारू का सेवन नहीं करती वे प्रिंसिपल के इस बयान से काफी परेशान हैं। कुछ विद्यार्थियों ने इसकी शिकायत कॉलेज के ट्रस्टी से भी की लेकिन उन्होंने प्रिंसिपल द्वारा बोली गई बात का समर्थन किया, ऐसा आरोप एमकेईएस कॉलेज के विद्यार्थियों ने लगाया। स्टूडेंट लॉ कॉउंसिल ने इस संदर्भ में कहा कि यदि विद्यार्थी बैग में अल्कोहल लेकर जाते हैं और कहीं पकड़े गए तो इसका जिम्मेदार कौन होगा? सफर के दौरान अल्कोहल लेकर चलना गुनाह है। यदि पुलिस जांच करती तो इसका अंजाम विद्यार्थियों को ही भुगतना पड़ता। स्टूडेंट लॉ कॉउंसिल के अध्यक्ष सचिन पवार ने कहा कि हमने एमयू के कुलगुरु डॉ. सुहास पेडनेकर को कॉलेज के खिलाफ लिखित शिकायत भेजी है। अब उन्हें मामले को देखते हुए कॉलेज पर उचित कार्रवाई करनी चाहिए।
झूठे हैं आरोप
एमकेईएस कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ. वंदना दुबे ने कहा कि विद्यार्थियों द्वारा जो आरोप लगाया जा रहा है, वो सरासर गलत है। उन्हें कोई शिकायत है तो वे कॉलेज के ट्रस्टी से बात कर सकते हैं। मैंने कोई भी ऐसी सूचना नहीं दी है बल्कि कल एक सर्वुâलर जारी होगा, जिसमें दारू वर्जित होगी।