पढ़ाई-क्रीड़ा-नौकरी की समस्या होगी दूर, आदित्य ठाकरे का युवाओं को वचन

‘आदित्य संवाद’ का पहला सुपरहिट कार्यक्रम होने के बाद कल शिवसेना नेता व युवासेनाप्रमुख आदित्य ठाकरे नासिक पहुंचे। युवाओं की समस्याओं, प्रश्नों और उनके सपनों को जानने के लिए कल एक बार फिर वे विद्यार्थियों से रू-ब-रू हुए। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्र में शिक्षा, क्रीड़ा और नौकरी की समस्याओं को दूर करने का वचन युवासेनाप्रमुख ने युवकों को दिया।

बता दें कि नासिक स्थित डोंगरे वसतिगृह मैदान में कल शाम ५.३० बजे कार्यक्रम की तूफानी शुरुआत हुई। इस कार्यक्रम में राजनीति, क्रीड़ा, नौकरी आदि क्षेत्र के संदर्भ में युवाओं ने प्रश्न पूछे। युवासेनाप्रमुख आदित्य ठाकरे ने युवाओं से संवाद करते हुए कहा कि मैंने इस कार्यक्रम का आयोजन इसलिए किया है ताकि मैं ये जान सकूं कि युवाओं के क्या प्रश्न हैं। उनके पास क्या आइडिया है तथा उनके क्या सपने हैं? आदित्य ठाकरे ने कहा कि मेरी ये आशा है कि चुनाव के पहले ही नहीं चुनाव के बाद भी युवा वर्ग चुप नहीं बैठेंगे और अपनी आवाज, अपना मत केंद्र सरकार व राज्य सरकार तक पहुंचाएंगे ताकि हम आगे भी विकास कर सकें। युवाओं के हाथों में ऐसी शक्ति है, जो कुछ भी कर सकते हैं। मेरा उनसे आह्वान है कि वे अपने सपने, अपनी आकांक्षाओं को न छोड़ें तथा उसे हासिल करने के लिए हमेशा प्रयासरत रहें। इस दौरान आदित्य ठाकरे ने ये भी कहा कि आज जो सुझाव, जो आइडिया आप मुझे देंगे, मैं उसे मुंबई लेकर जाऊंगा और फिर उसे दिल्ली लेकर जाऊंगा। इस दौरान एक छात्र ने ग्रामीण क्षेत्र में क्रीड़ा और साहित्य के अभाव को लेकर जब प्रश्न पूछा तो प्रश्न की सराहना करते आदित्य ठाकरे ने कहा कि क्रीड़ा एक बड़ा ही महत्वपूर्ण विषय है। इसके लिए बच्चों को स्कूल तक पहुंचाने, उन्हें अच्छा आहार देने, उन्हें शारीरिक व मानसिक रूप से प्रबल बनाने के लिए हमने कई कार्य किए हैं और आगे भी करते रहेंगे। तब जाकर हमें एक अच्छा स्पोर्ट्स प्लेयर मिलेगा। ग्रामीण क्षेत्रों में नौकरी की समस्याओं को लेकर उन्होंने कहा कि वे सुभाष देसाई जी से बात कर युवाओं की इस समस्या का भी निदान करने का प्रयास करेंगे।