फर्स्ट क्लास के टिकट में लो एसी का मजा

उपनगरीय यात्रियों का सफर सुखमय और सुखदायक हो, इसके लिए पश्चिम रेलवे हमेशा प्रयासरत रही। इसी कड़ी में अगले माह से पश्चिम उपनगरीय मार्गों पर सेमी एसी लोकल दौड़नेवाली है। पूरी एसी लोकल के चलते आम लोकल ट्रेनों की सेवाओं पर असर पड़ रहा था। परिणामस्वरूप यात्रियों में भारी नाराजगी पैâल रही थी। दिसंबर से सेमी एसी लोकल शुरू होने से यात्रियों को राहत मिलेगी। इस सेमी एसी लोकल में फर्स्ट क्लास का डिब्बा न होने से फर्स्ट क्लास के यात्री अब फर्स्ट क्लास के टिकट पर सेमी एसी लोकल ट्रेन के डिब्बे में सफर कर सकेंगे यानी फर्स्ट क्लास के टिकट पर कूल-कूल यात्रा होगी।
१२ डिब्बों की होगी सेमी एसी लोकल
पश्चिम उपनगरीय मार्गों पर दौड़नेवाली सेमी एसी लोकल १२ डिब्बों की होगी। इनमें छह एसी डिब्बे होंगे और छह सामान्य होंगे। इसमें एक हजार ९६ लोगों के बैठने की क्षमता होगी। इसमें फर्स्ट क्लास के लिए आरक्षित डिब्बे नहीं होंगे।
पहले डिब्बे का होगा तीन हिस्सा
सेमी एसी लोकल के पहले डिब्बे को तीन हिस्सों में बांटा जाएगा। इसमें पहला हिस्सा दिव्यांग यात्रियों के लिए होगा, जिसमें १९ लोगों के बैठने की क्षमता होगी। इसके बाद दूसरा हिस्सा आम यात्रियों के लिए और तीसरा हिस्सा माल डिब्बे के लिए होगा। इसके अलावा दो जनरल क्लास, लोकल का चौथा डिब्बा महिलाओं के लिए आरक्षित होगा।
१६ दिन बाद परीक्षण
१६ दिन बाद यानी दिसंबर की शुरुआत में सेमी एसी लोकल का परीक्षण किया जाएगा। इस परीक्षण के तुरंत बाद इसे सुचारु रूप से चलाया जाएगा।