फिर एक बार गजानन कीर्तिकर

चुनावी समर की रणभेरी बज चुकी है। उत्तर-पश्चिम मुंबई से शिवसेना के कार्यसम्राट सांसद गजानन कीर्तिकर एक बार फिर मैदान में हैंै। उनके बारे में कहा जाता है कि उनकी पैठ सभी समाज के लोगों में बहुत अच्छी है। जबकि विपक्ष में मुख्य उम्मीदवार कांग्रेस से संजय निरुपम हैं, जो इसके पहले उत्तर मुंबई से चुनाव लड़ चुके हैं। उत्तर-पश्चिम सीट के बारे में कहा जाए तो इसके अंतर्गत आनेवाली छह विधानसभा में सभी की सभी पर युति का राज है, जिससे यहां एक बार फिर गजानन ’कीर्ति’कर का चुना जाना लगभग तय माना जा रहा है।

एक नजर में गजानन कीर्तिकर
सितंबर १९४३ को जन्मे गजानन कीर्तिकर, चंद्रकांत और रत्नप्रभा के पुत्र हैं। उनकी पत्नी का नाम मेघना कीर्तिकर है। उनकी तीन संतानें हैं जिसमें एक बेटा और दो बेटियां हैं। कीर्तिकर ने हिंदूहृदयसम्राट शिवसेनाप्रमुख श्री बालासाहेब ठाकरे के शिवसैनिक के रूप में राजनीति में प्रवेश किया। लोगों के बीच ‘भाऊ’ के रूप में पहचाने जानेवाले गजानन कीर्तिकर शिवसेना के गठन काल से ही हिंदूहृदयसम्राट शिवसेनाप्रमुख बालासाहेब ठाकरे से जुड़ गए। स्थानीय लोकाधिकार समिति के माध्यम से वे रोजगार के लिए ‘साहेब’ और शिवसेना की ओर से भूमिपुत्रों के अधिकारों की लड़ाई लड़ते रहे। यही वजह है कि साहेब भी भाऊ को अपने विश्वसनीय सहयोगियों में एक मानते थे और आज भी भाऊ शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे के विश्वासपात्रों में शामिल हैं।

हरदिल अजीज हैं भाऊ
क्षेत्र की जनता को अपना परिवार माननेवाले गजानन कीर्तिकर को लोग भाऊ, दादा आदि कहकर बुलाते हैं। शिवसेना नेता गजानन कीर्तिकर चार बार विधायक रह चुके हैं। युति सरकार के शासनकाल में गृह राज्य मंत्री और केंद्रीय मंत्री सहित कई सम्मानित पदों पर वे कार्य कर चुके हैं।

संसदीय क्षेत्र के आंकड़े
कुल मतदाता – १७,७५,४१६ (२०१४ लोकसभा चुनाव)
(५५.५८ पुरुष / ४४.४२ महिला)
मतदान केंद्र – १,६८९
विधानसभा क्षेत्र और विधायक
वर्सोवा- डॉ. भारती हेमंत लवेकर (भाजपा)
अंधेरी-पश्चिम- अमित साटम (भाजपा)
अंधेरी-पूर्व- रमेश लटके (शिवसेना)
जोगेश्वरी- रवींद्र वायकर (शिवसेना)
दिंडोशी- सुरेश प्रभु (शिवसेना)
गोरेगांव- विद्या ठाकुर (भाजपा)
गत चुनाव के परिणाम
२४ अप्रैल २०१४ को हुए चुनाव में इस मतदान क्षेत्र से १४ प्रत्याशी चुनावी समर में थे।
कुल मतदान – ८,९५,५१७
गजानान कीर्तिकर (शिवसेना) को मिले ४,६४,८२० (५१.९१³) मत
गुरुदास कामत (कांग्रेस) को मिले २,८१,७९२ (३१.४७³) मत
उपलब्धियां
चार बार विधायक रहे
युति शासन में गृह राज्य मंत्री रहे
२०१४ में सांसद पहुंचे
सामाजिक कार्यों का लंबा अनुभव
कामगार नेता के रूप में अनुभव
संसद में उपस्थिति- ७९ फीसदी
संसद में पूछे गए सवाल- १,०१३
सांसद निधि से विकास कार्यों पर किया गया खर्च- २९ करोड़ रुपए

२०%  राजनीति, ८०% समाजसेवा
शिवसेना की नीति ८०% समाजसेवा और २०% राजनीति की रही है। इसमें किसी तरह की जाति, धर्म और प्रांत का भेदभाव नहीं किया जाता है। पहली बार मुंबई में हुए मराठी व उत्तर भारतीय समाज के संयुक्त स्नेह सम्मेलन में उत्तर-पश्चिम लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के शिवसेना सांसद गजानन कीर्तिकर ने इसका खुलकर ऐलान भी कर दिया। कीर्तिकर ने कहा कि शिवसेना सदैव उत्तर भारतीय एवं सर्व समाज के हितों के लिए अपनी नैतिक जिम्मेदारियों का पूर्ण निर्वाह करती रहेगी और कमजोर व असहायों की मदद के लिए सदैव अग्रसर रहेगी। इस मौके पर कीर्तिकर ने सबका साथ, सबका विकास की शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे की नीति को आगे बढ़ाने का प्रण भी दोहराया।