फिर जागा ईवीएम का जिन्न, इवीएम को लेकर पूर्वी यूपी में बवाल, अफजल अंसारी ने दिया धरना

लोकसभा चुनाव के बाद एग्जिट पोल नतीजों मे एनडीए की संभावित बनती सरकार से विपक्ष में हड़कंप मचा हुआ है। इसी के साथ ईवीएम विवाद का जिन्न भी एक बार फिर से जाग गया है। सोमवार देर रात ईवीएम बदलने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस और महागठबंधन के प्रत्याशियों ने जमकर हंगामा किया। गाजीपुर में जिला प्रशासन और पुलिस से नोंकझोक के बाद महागठबंधन प्रत्याशी अफजल अंसारी धरने पर बैठ गए। प्रशासन की जद्दोजहद के बाद भी वह वहां से उठने को तैयार नहीं हुए, वहीं मिर्जापुर में कांग्रेस प्रत्याशी ललितेश पति त्रिपाठी ने ईवीएम को लेकर शिकायत की है। उन्होंने स्ट्रॉन्गरूम में अतिरिक्त ३०० ईवीएम रखने की बात कहकर ईवीएम बदलने का आरोप लगाया है।

सपा के जिलाध्यक्ष आशीष यादव ने कहा कि हमने पत्र लिखकर अनुमति मांगी कि स्ट्रॉन्ग रूम के सामने हमारे प्रत्याशी और प्रत्याशी के लोग उपलब्ध रहेंगे और वह भी चौकीदारी करते रहेंगे। पत्र में हमने लिखा कि हमारे लोगों की ६-६ या ८-८ घंटे की ड्यूटी जो बनाई गई है हमें उसकी इजाजत दी जाए लेकिन वे अनुमति भी नहीं दे रहे हैं। जिला प्रशासन के लोग कह रहे हैं कि आपको कौन रोक सकता है? वहीं पुलिस के लोग हमें भगा रहे हैं। मऊ में भी देर रात स्ट्रॉन्ग रूम के बाहर बवाल हुआ। एसपी मऊ सुरेंद्र बहादुर ने कहा कि कुछ लोग सोशल मीडिया पर फैली अफवाह के बाद ईवीएम स्ट्रॉन्ग रूम के बाहर इकट्ठा हो गए थे। उन्हें हल्का बल प्रयोग कर तितर-बितर किया गया। इलाके की कानून-व्यवस्था बरकरार है। सोमवार देर रात यूपी के चंदौली, गाजीपुर और मिर्जापुर में रिजर्व ईवीएम को स्ट्रॉन्ग रूम में रखने को लेकर विरोध के मामले सामने आए। खासकर मिर्जापुर और गाजीपुर में विपक्ष के नेता ईवीएम छेड़छाड़ का आरोप लगा रहे हैं। इससे जिला प्रशासन को स्थिति संभालने में मुश्किलें आ रही हैं। यूपी के गाजीपुर के जंगीपुर में बने स्ट्रॉन्ग रूम के बाहर सोमवार की देर शाम महागठबंधन प्रत्याशी अफजाल अंसारी ने अपने सैकड़ों समर्थकों संग पहुंचकर धरना दिया। जिला प्रशासन व पुलिस के समझाने पर भी वह नहीं माने और ईवीएम की सुरक्षा पर सवाल उठाते हुए कहा कि उन्हें जिला प्रशासन पर भरोसा नहीं है। उनके लोग खुद मशीन की निगरानी करेंगे। उन्होंने आरोप लगाया कि चंदौली में भी ईवीएम बदलने की कोशिश हुई है। इस दौरान उनकी एसडीएम सदर और सीओ से तीखी बहस भी हो गई।