फिर शुरू हुआ आतंकी अध्याय अमृतसर में बम धमाका, ३ की मौत

पंजाब स्थित अमृतसर के राजासांसी इलाके के एक धार्मिक डेरे पर आतंकियों द्वारा ग्रेनेड से किए गए अटैक में हुए विस्फोट में तीन लोगों की मौत हो गई। इस विस्फोट में २० से अधिक लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं। घायलों को नजदीक के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। फॉरेंसिक एक्सपर्ट मौके पर पहुंच चुके हैं और खबर लिखे जाने तक जांच जारी थी। उक्त हमले से ऐसा समझा जा रहा है कि पंजाब में फिर से आतंकी अध्याय की शुरूवात होनेवाली है। इस धमाके के बाद पंजाब के सभी शहरों सहित दिल्ली और अन्य आस-पास के इलाकों में अलर्ट जारी किया गया है। पंजाब सरकार ने हमले में मृत लोगों के परिवार को पांच लाख का मुआवजा देने की घोषणा की है।
जानकारी के अनुसार नकाबपोश मोटरसाइकिल सवारों ने ग्रेनेड से अटैक किया, जिसके बाद वहां जोरदार धमाका हुआ। विस्फोट के बाद इलाके में अफरा-तफरी का माहौल बन गया। पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंच कर जांच शुरू कर दी है। खबरों की मानें तो धमाके के पीछे कट्टरपंथियों का हाथ हो सकता है। आईजी (बॉर्डर) सुरिंदर पाल सिंह परमार ने धमाके में तीन लोगों की मौत और कई लोगों के घायल होने की पुष्टि की है। बता दें कि निरंकारी भवन की अमृतसर से दूरी सिर्फ ७ किलोमीटर है, वहीं इंटरनेशनल बॉर्डर से इसकी दूरी सिर्फ २० किलोमीटर है। रविवार को यहां बड़ी तादाद में श्रद्धालु जुटते हैं। शायद हमलावरों ने इसी वजह से इस धमाके को अंजाम दिया। फिलहाल इलाके की नाकाबंदी कर दी गई है और पुलिस जांच में जुट गई है। नोएडा, दिल्ली सहित अन्य शहरों में अलर्ट जारी किया गया है। दिल्ली स्थित निरंकारी भवन की भी सुरक्षा बढ़ा दी गई है।
पंजाब के मुख्यमंत्री वैâप्टन अमरिंदर सिंह ने अमृतसर बम ब्लास्ट के पीड़ितों के परिवारों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त कीं। अमरिंदर ने ट्वीट कर कहा कि हमारी सरकार मृतकों के परिजनों को पांच लाख रुपए का मुआवजा देने के साथ ही घायलों का मुफ्त में इलाज कराएगी। उन्होंने जिला प्रशासन को सभी प्रकार की मदद मुहैया कराने को भी कहा है। इस बीच केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह से इस घटना पर बात की है। राजनाथ सिंह ने कहा कि मैं इस हमले की निंदा करता हूं और इस वारदात में शामिल लोगों के खिलाफ कड़ा एक्शन लिया जाएगा।