" /> फिसड्डी आनंद

फिसड्डी आनंद

जीवन की इससे बुरी पराजय और क्या हो सकती है कि लगातार पांच हार मिल जाए और विश्व चैंपियन जैसी बात धूमिल हो जाए। यानि किसी दिग्गज को कोई भी आसानी से हरा रहा हो तो उसे धराशाई ही कहा जाएगा। विश्वनाथन आनन्द ऐसे ही धराशाई दिग्गज हैं जो बिसात पर फिसड्डी साबित हो रहे हैं। ग्रैंडमास्टर विश्वनाथन आनंद को १५०००० डॉलर इनामी लीजेंड्स ऑफ चेस ऑनलाइन टूर्नामेंट में हंगरी के पीटर लेको के खिलाफ २-३ से शिकस्त का सामना करना पड़ा, जो उनकी लगातार पांचवीं हार है। पूर्व विश्व चैंपियन आनंद ने अच्छी शुरुआत करते हुए बेस्ट ऑफ फोर बाजी के मुकाबले की पहली बाजी जीती, जिसके बाद अगली दो बाजियां ड्रॉ रही। लेको ने इसके बाद अंतिम बाजी जीतकर मुकाबला बराबर कर दिया।हंगरी के खिलाड़ी ने इसके बाद टाईब्रेक जीतकर आनंद की एक और हार सुनिश्चित की। आनंद अब तक कोई मुकाबला नहीं जीत पाए हैं और अंक तालिका में अंतिम स्थान पर चल रहे हैं।मैग्नस कार्लसन शतरंज टूर पर पहली बार खेल रहे आनंद को इससे पहले पीटर स्विडलर, मैग्नस कार्लसन, व्लादिमीर क्रैमनिक और अनीष गिरी के खिलाफ शिकस्त का सामना करना पड़ा। इससे पहले उन्हें नीदरलैंड के अनीश गिरी ने ३-२ से मात दी। नीदरलैंड के खिलाड़ी ने शुक्रवार को आर्मागेडोन गेम (टाई ब्रेक) में जीत हासिल की।