फेसबुकिया हूर का जुनून, खबरी बन गया `रॉ’ का एजेंट!

बीवी से तलाक के बाद मुंबई पुलिस के एक खबरी को एक फेसबुकिया हूर से इश्क हो गया। तथाकथित हूर को पाने के लिए खबरी ने खुद को `रॉ’ एजेंट बताकर दोस्ती बढ़ाई। उक्त फर्जी रॉ एजेंट ने अपनी प्रेमिका से निकाह करवाने के लिए पुलिस एवं पुलिस के बड़े अधिकारियों पर भी दबाव डाला लेकिन २४ घंटे तक चले ड्रामे के बाद तथाकथित नल्ले `रॉ’ एजेंट की पोल खुल गई और वह हवालात पहुंच गया।
बता दें कि इमरान खान नूर मोहम्मद खान गोवंडी इलाके का निवासी है। इमरान का उसकी बीवी से तलाक हो चुका है। कुछ दिन पहले उसकी नागपुर के गिट्टी खदान पुलिस थाने की हद में रहनेवाली शबनम से फेसबुक पर दोस्ती हो गई। शबनम भी एक तलाकशुदा महिला है तथा वह एक ब्यूटी पार्लर चलाती है। इमरान ने खुद को हिंदुस्थानी खुफिया एजेंसी `रॉ’ का एजेंट बताया। उसने बताया कि वह जासूसी के लिए पाकिस्तान आता जाता रहता है। पाकिस्तान में अपनी बहादुरी के झूठे किस्से सुनाकर उसने शबनम को प्रेम जाल में फंसा लिया। इमरान पुलिस का खबरी है इसलिए पुलिस की घनिष्टता ने उसे दुस्साहसी बना दिया। शबनम से मिलने व निकाह करने की धुन में वह उसके घर पहुंच गया और वहीं रहने लगा। इमरान, शबनम के घरवालों पर निकाह कराने के लिए दबाव डालने लगा। इस बीच उसने शबनम से कुछ रुपए भी उधार लिए। एक बार शबनम ने इमरान से उसका पहचानपत्र मांगा तो उसने आसमान सर पर उठा लिया। इससे शबनम को उस पर शक हो गया। वह इमरान को टालने लगी तो वह पुलिस थाने पहुंच गया। खुद को रॉ एजेंट बताकर शबनम से इश्क की कहानी सुनाई और निकाह कराने की गुहार लगाई। पुलिस अधिकारियों ने युवती की मर्जी के खिलाफ शादी कराने में असमर्थता जताई तो इमरान क्षेत्र की एक बड़ी आईपीएस अधिकारी के पास पहुंच गया। वहां भी उसने अपना परिचय रॉ एजेंट के रूप में ही दिया था। आईपीएस अधिकारी ने अपने स्तर पर इमरान की जांच की तो वह `रॉ’ का नल्ला जासूस निकला। इमरान के मोबाइल फोन में मुंबई पुलिस के कई बड़े अधिकारियों के फोन नंबर मिले हैं।