बटर में भी तेल का खेल, एक रात में तीन रेड

एक ही रात में तीन अलग-अलग स्थानों पर छापा मारकर सहायक पुलिस अधीक्षक अतुल कुलकर्णी ने नकली बटर बनाने की कंपनी, सरकारी अनाज की कालाबाजारी और प्रतिबंधित गुटखे के गोरखधंधा का पर्दाफाश कर करोड़ों रुपए का सामान जप्त किया है। कुलकर्णी के इस कारनामें से फिर एक बार साबित हो गया है कि काशीमीरा `क्राइम हब’ बन गया है।
 सहायक पुलिस अधीक्षक कुलकर्णी को काशीमीरा पुलिस की सीमा में अलग-अलग आपराधिक गतिविधियों को अंजाम देने की गुप्त जानकारी मिली थी। मिली जानकारी के आधार पर कुलकर्णी ने पुलिस बल के साथ मंगलवार को तीन जगह छापा मारकर आपराधियों को बेनकाब किया।
 काशीमीरा पुलिस की सीमा में ठाणे- घोडबंदर रोड पर स्थित विशाल इंडस्टी्रयल इस्टेट की एक कंपनी में छापा मारकर नकली बटर बनाने में संलग्न कंपनी के मालिक मनोज अग्रवाल सहित ५ आरोपियों को गिरफ्तार कर कंपनी को सील कर दिया है। नकली बटर बनाने के लिए सस्ते और निम्न स्तर के खाद्य तेलों का इस्तेमाल किया जाता था। महंगे दामों पर इसे बेचने के लिए नामचीन कंपनियों के पैकेट का प्रयोग करते थे। पुलिस के अनुसार प्रतिदिन ५०० किलो नकली और मिलावटी बटर की खपत इस कंपनी द्वारा की जाती थी।
दूसरे छापे में कुलकर्णी ने एक स्थानीय राशन माफिया के गोदाम पर छापा मारकर ३० ट्रक सरकारी राशन की दुकानों पर आपूर्ति किए अनाज को जप्त कर गोदाम को सील कर दिया। इसी प्रकार से एक अन्य छापेमारी में कुलकर्णी ने एक करोड़ रुपए मूल्य का प्रतिबंधित गुटखा भी जप्त किया है।