" /> बदलाव!, कहीं पैसा, कहीं प्यार पर तकरार

बदलाव!, कहीं पैसा, कहीं प्यार पर तकरार

पति-पत्नी के बीच रिश्ते और विश्वास की डोर कमजोर होती जा रही है। कभी प्यार, कभी पैसा तो कभी विवाहेत्तर संबंधों के कारण सात जन्मों तक साथ निभानेवाले पति-पत्नी खुद को एक दूसरे का पूरक समझने की बजाय आंख का कांटा समझने लगते हैं, जिसकी चुभन उन्हें एक-दूसरे के खून का प्यासा बना देती है। पतियों द्वारा पत्नी की पिटाई या कत्ल के मामले तो अक्सर सामने आते हैं लेकिन हाल के दिनों में काफी बदलाव देखने को मिला है। इसे बदलाव का असर ही कहेंगे, जिसके कारण देशभर में कई ऐसे मामले सामने आने लगे हैं, जिनमें विवाहेत्तर संबंधों या अन्य कारणों से महिलाओं ने अपने पतियों को पीटा या फिर मौत के घाट उतार दिया।
मुंबई से कुछ ही दूरी पर स्थित नासिक और पुणे में घटी दो अलग-अलग घटनाओं में एक महिला को पति की हत्या के आरोप में पुलिस ने गिरफ्तार किया है जबकि ३ साल पहले घटी एक अन्य घटना में कातिल बीवी को कोर्ट ने उम्रवैâद की सजा सुनाई है।
पहली घटना पुणे के नरे गांव की है, जिसमें अपने पति की हत्या करनेवाली महिला को सिंहगढ़ पुलिस ने गिरफ्तार किया है। मृतक पुंडलिक करे मूलरूप से सांगली का निवासी था। वर्ष २०१६ में वह रोजगार के सिलसिले में पुणे आ गया था। करीब ४ साल पहले पुंडलिक का निशा (बदला हुआ नाम) के साथ प्रेम-संबंध स्थापित हो गया था। बताया जा रहा है कि पुंडलिक ने निशा से आलंदी में विवाह भी किया था। निशा इस विवाह की जानकारी सार्वजनिक करने के लिए पुंडलिक पर दबाव बना रही थी लेकिन वह इससे कतराने लगा था। वह निशा से दूर रहने लगा था। सोमवार को पुंडलिक शराब पीकर निशा के घर पहुंच गया। वहां वह उत्पात मचाने लगा। उसने कहा कि वह पहले से ही विवाहित है। उस वक्त तो निशा ने अपने गुस्से पर नियंत्रण रखा लेकिन जब पुंडलिक गहरी नींद में सो गया तो निशा ने उसका गला चीर दिया। इसके बाद निशा ने दुपट्टे का फंदा बनाकर खुदकुशी की कोशिश भी की लेकिन उसकी हिम्मत जवाब दे गई। उसने गांव में रहनेवाले अपने पिता को हत्या की जानकारी दी और पिता की सलाह पर खुद पुलिस थाने पहुंचकर अपना गुनाह कबूल कर लिया। सिंहगढ़ पुलिस ने सिंहगढ़ के नवले रोड स्थित नवले हॉस्पिटल के पास पुंडलिक की लाश बरामद कर ली है।
इसी तरह दूसरी घटना करीब तीन साल पहले नासिक स्थित इगतपुरी के पटेल चौक इलाके में घटी थी। वहां १२ जनवरी, २०१२ को एक महिला ने नींद में सो रहे पति की गला काट कर हत्या कर दी थी क्योंकि उसे पति का विवाहेत्तर संबंध होने का शक था। ५४ वर्षीय सगीर इस्माइल शेख, इगतपुरी के पटेल चौक स्थित नया बाजार इलाके में पत्नी सायना उर्फ शहजान और बेटे कफिल के साथ रहता था। सायना को शक था कि सगीर का किसी अन्य महिला के साथ नाजायज संबंध चल रहा है। वारदातवाली रात सगीर खाना खाकर घर में गहरी नींद में सो रहा था। उस समय कफिल कुछ काम से बाहर गया था। उसी दौरान सायना ने कोयते से सगीर के सर और गर्दन पर कई वार किये। बाद में सबूत छिपाने के लिए सायना ने कत्ल के लिए इस्तेमाल किया गया कोयता पानी से अच्छी तरह धोकर बारा बंगला इलाके में स्थित झाड़ियों में फेंक दिया था। अगले दिन जब कफिल घर लौटा तो उसने सगीर को बिस्तर पर लहूलुहान अवस्था में देखा। जांच करने पर सगीर मृत मिला जबकि सायना फरार थी। पीआई संजय शुक्ला के मार्गदर्शन में एपीआई महेश मांडवे की टीम ने मामले की जांच की और सायना को गिरफ्तार करके न्यायालयात दोषारोप पत्र दायर किया। जिला एवं सत्र न्यायाधीश एस. टी. पांडे की अदालत ने सुनवाई के बाद आरोपी सायना शेख को दोषी करार देते हुए उम्रवैâद एवं ३ हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है। जुर्माना न भरने पर सायना को और दो महीने जेल में बिताने पड़ेंगे।