बनना चाहता था अमीर, स्क्रिप्ट राइटर बना नकली नोटों का तस्कर

 

रुपहले पर्दे की चकाचौंध भरी दुनिया में प्रतिदिन कई लोग अपना भाग्य आजमाने आते हैं। इनमें सफलता कुछ ही खुशनसीब लोगों को मिलती है जबकि ज्यादातर लोग संघर्ष करते-करते गुमनामी के अंधेरे में खो जाते हैं। कई तो दिखावे और जल्द अमीर बनने की चाह में अपराध के दलदल में फंस जाते हैं, बॉलीवुड में किस्मत आजमाने आया ऐसा ही एक स्क्रिप्ट राइटर नकली नोटों का तस्कर बन गया। मुंबई पुलिस की क्राईम ब्रांच यूनिट 9 ने उसे गिरफ्तार किया है।

बता दें कि यूनिट 9के एपीआई इरफान शेख को जोगेश्वरी-पश्चिम स्थित मीना होटल के पास एक युवक के नकली नोट की तस्करी के सिलसिले में आने की सूचना मिली थी। डीसीपी अकबर पठान के मार्गदर्शन व वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक महेश देसाई के नेतृत्व मे पीआई आशा कोरके एपीआई शेख, जाधव, धाराड़े एवं पीएसआई वाल्मिकी कोरे व अम्बावडे की टीम ने जोगेश्वरी पश्चिम, एसवी रोड स्थित मीना होटल के पास जाल बिछाया तथा 37 वर्षीय देवकुमार रामरतन पटेल को संदेह के आधार पर हिरासत में ले लिया।उसके पास से तलाशी में 2000, 500, 200और 100रुपए की लगभग (5,78,200रुपए) नकली नोट मिली। जांच में पता चला कि देव बोलीवुड में राइटर बनने आया था। नालासोपारा निवासी देव ने ‘ईश्वर एक अपराध’ नामक फिल्म की कहानी भी लिखी थी लेकिन बाद में वह बेकार हो गया था।