बरसात ने प्रदूषण को धो डाला!, ठाणेकर लेंगे शुद्ध हवा

ठाणे शहर की हवाओं में बरसात के पहले भारी मात्रा में प्रदूषण पाया गया था लेकिन जब से बरसात शुरू हुई है तब से ही ठाणे शहर की हवा शुद्ध होनी शुरू हो गई है। प्रदूषण विशेषज्ञों का कहना है कि बरसात ने ठाणे शहर की हवा से प्रदूषण को धो डाला है।
बता दें कि प्रदूषण विशेषज्ञों के अनुसार अधिक तापमान के दौरान हवा में प्रदूषण की मात्रा बढ़ जाती है। हवा में पाए जानेवाले प्रदूषण में सल्फर डायऑक्साइड और नाइट्रोजन ऑक्साइड तथा १० माइक्रोग्राम से अधिक धूलकण का समावेश होता है। गर्म तापमान में ये दोनों गैसें और १० माइक्रोग्राम से अधिक के धूलकण तेजी से बढ़ जाते हैं। अप्रैल महीने का तापमान काफी अधिक था, जिस वजह से उस समय ठाणे शहर की हवा में प्रदूषण की मात्रा १७० माइक्रोग्राम प्रति मीटर तक पहुंच गई थी। जून महीने में बरसात के शुरू होते ही तापमान काफी हद तक कम हो गया, जिस वजह से प्रदूषण की मात्रा घटकर ९८ माइक्रोग्राम तक आ पहुंची थी। वहीं बुधवार को हवा की जांच में पता चला कि प्रदूषण की मात्रा ७८ माइक्रोग्राम प्रति मीटर आ चुकी है, जो कि ठाणेकरों के स्वास्थ्य के लिए बेहद सही है। ठाणे मनपा के प्रदूषण विभाग के अनुसार हवा में पाई जानेवाली सल्फर डायऑक्साइड की मात्रा और नाइट्रोजन ऑक्साइड की मात्रा में ५० प्रतिशत की कमी दर्ज की गई है जबकि १० माइक्रोग्राम से अधिक के धूलकण ७० प्रतिशत तक कम हुए हैं। यही धूलकण हैं जो मानव शरीर में श्वास के रास्ते पहुंचकर उन्हें बीमार बना देते हैं।

बुधवार के हवा का हाल
सल्फरडाय ऑक्साइड-२१.९८ माइक्रोग्राम प्रति मीटर
नाइट्रोजन ऑक्साइड-४३.९ माइक्रोग्राम प्रति मीटर

इस वर्ष
जनवरी – २०५ माइक्रोग्राम प्रति मीटर
फरवरी-२०१माइक्रोग्राम प्रति मीटर
मार्च-१४९ माइक्रोग्राम प्रति मीटर
अप्रैल-१५०माइक्रोग्राम प्रति मीटर
मई-१७० माइक्रोग्राम प्रति मीटर
जून-९१ माइक्रोग्राम प्रति मीटर