" /> बांद्रा में कोरोना हुआ बेदम! डबलिंग रेट हुआ १३३ दिन

बांद्रा में कोरोना हुआ बेदम! डबलिंग रेट हुआ १३३ दिन

मनपा के एच/पूर्व यानी बांद्रा विभाग में कोरोना बेदम हो गया है। घर-घर जाकर जांच करने, आवश्यकतानुसार घर पर ही ऑक्सीजन उपचार, प्रभावी क्वारंटीन और प्रतिबंधित क्षेत्र में सख्त नियमों के कारण यहां मरीजों के दोगुने होने की कालावधि १३३ दिन पर आ गई है। इसके साथ ही मरीजों के दोगुने होने की औसतन दर ०.५ प्रतिशत पर पहुंच गई है।
मनपा एच/पूर्व यानी बांद्रा-पूर्व वॉर्ड के सहायक आयुक्त अशोक खैरनार के मार्गदर्शन में विभाग के अंतर्गत चार चरणों में कार्य किया गया। इसके अंतर्गत नियमों का पालन करने के साथ-साथ हर दिन समीक्षा करके अगले दिन के लिए एक योजना बनाकर काम किया जाता रहा है। इस वॉर्ड के अंतर्गत आनेवाले क्षेत्रों में स्वास्थ्यकर्मियों ने हर नागरिक की स्क्रीनिंग की जा रही है। सार्वजनिक स्थानों पर स्पर्श रहित सेनिटायजेशन व्यवस्था एवं शौचालयों को दिन में ५-६ बार निर्जंतुकीकरण किया जा रहा है। कंटेनमेंट जोन में पुलिस की सहायता से संपूर्ण नाकाबंदी जैसी उपाययोजनाओं के कारण यहां मरीजों के दोगुने होने की कालावधि १३३ दिन हो गई है। केंद्रीय टीम ने भी इस विभाग का दौरा किया और कोरोना की रोकथाम के लिए प्रशासन द्वारा उठाए गए कदमों की सराहना की है।
‘चेस द वायरस’ मुहिम हुई सफल
मनपा द्वारा ‘चेस द वायरस’ मुहिम के तहत किए गए प्रयासों से लोगों को कोरोना से बचाने में मदद मिली है। मनपा ने बड़ी संख्या में लोगों की घर-घर जांच कर उन्हें क्वारंटीन किया है और उच्च स्तर पर कांटेक्ट ट्रेसिंग की है, जिससे मुंबई जैसी सघन आबादीवाले शहर में इस वायरस के प्रसार में भारी कमी आई है।
७० दिनों से ऊपर डबलिंग रेटवाले वॉर्ड
मुंबई के भायखला परिसरवाले ई-वॉर्ड में डबलिंग रेट ७२ दिन, एल-वॉर्ड में ७०, बी-वॉर्ड में १००, ए-वॉर्ड में ७२, एफ/उत्तर वॉर्ड में ८७ और जी/दक्षिण वॉर्ड में मरीजों के डबलिंग रेट की अवधि ५८ दिन हो गई है।