बाघों के साथ बढ़ रही है बाघप्रेमियों की संख्या! उद्धव ठाकरे का उद्गार

राज्य सरकार की ओर से मनपा को मिलनेवाली चुंगी भरपाई के सिलसिले में २ वर्ष पहले मनपा में आया था। उस समय और अभी के वातावरण व पर्यावयरण में जमीन-आसमान का अंतर है। बाघों के साथ बाघ प्रेमियों की भी संख्या बढ़ रही है, ऐसे उद्गार शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने व्यक्त किए। अब शिवसेना और भाजपा मिलकर केवल मुंबई में ही नहीं, राज्य और देश में भी अच्छा काम करेंगे, ऐसा दृढ़ विश्वास भी उन्होंने व्यक्त किया। राज्य सरकार के सहयोग से मनपा गोरेगांव के आरे कॉलोनी में १२० एकड़ जमीन पर अंतर्राष्ट्रीय स्तर का प्राणी संग्रहालय बनानेवाली है। इस सिलसिले में उद्धव ठाकरे की प्रमुख उपस्थिति में कल मनपा और वन विभाग के बीच मनपा मुख्यालय में अनुबंध हुआ।
मुंबईकरों, देशभर से आनेवाले पर्यटकों को कुछ न कुछ नया देना चाहिए। इसके लिए राज्य सरकार के सहयोग की जरूरत है। बड़े पैमाने पर खुली जगहवाले रेस कोर्स पर अंतर्राष्ट्रीय स्तर का, बिना निर्माण कार्य किए खुला मैदान बनाया गया तो पर्यटकों व आम लोगों के लिए एक बेहतर सुविधा उपलब्ध होगी। इसके अलावा पूर्वी किनारे की ९०० एकड़ जमीन पर ओशियन पार्क बनाया जा सकता है। इस जगह पर हुए अतिक्रमण को हटाकर संबंधित लोगों का पुनर्वसन करने के बाद ही यह संभव होगा, ऐसा विश्वास शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने व्यक्त किया।
राज्य सरकार के सहयोग से मनपा गोरेगांव के आरे कॉलोनी में १२० एकड़ जमीन पर अंतर्राष्ट्रीय स्तर का प्राणी संग्रहालय बनानेवाली है। इस सिलसिले में उद्धव ठाकरे की प्रमुख उपस्थिति में कल मनपा और वन विभाग के बीच अनुबंध हुआ। पर्यावरण दिवस पर हो रहे अनुबंध पर शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने संतोष व्यक्त किया। इस प्राणी संग्रहालय में प्राणियों को उच्चस्तरीय आधुनिक प्राकृतिक वातावरण मिलने से उन्हें भी गर्व महसूस होगा, ऐसा भी उन्होंने कहा। इस मौके पर शिवसेना नेता व युवासेनाप्रमुख आदित्य ठाकरे, वन व वित्तमंत्री सुधीर मुनगंटीवार, महापौर विश्वनाथ महाडेश्वर के अलावा शिवसेना सचिव मिलिंद नार्वेकर, स्थायी समिति अध्यक्ष यशवंत जाधव, सुधार समिति अध्यक्ष सदानंद परब, स्वास्थ्य समिति अध्यक्ष अमेय घोले आदि उपस्थित थे।
जो संभव नहीं, वो काम करते नहीं!
भायखला स्थित वीरमाता जीजाबाई भोसले उद्यान में पेंग्विन लाने के लिए करीब १० वर्ष प्रयास किया गया, तब जाकर यह साकार हुआ लेकिन विपक्ष द्वारा शुरू से ही इस पर कटाक्ष किया गया। अब पेंग्विन ‘मुंबईकर’ के रूप में रह रहे हैं।
पानी पर राजनीति न करें
नीरा देवघर बांध की बाईं नहर से बारामती जानेवाला पानी बंद करने का आरोप लगाए जाने के बारे में उद्धव ठाकरे से पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि पानी एक ऐसी चीज है, जिसका हम निर्माण नहीं कर सकते इसलिए उपलब्ध पानी का हमें सतर्कता से इस्तेमाल करना चाहिए। सूखाग्रस्त क्षेत्र में राज्य सरकार की ओर से योजनाबद्ध तरीके से काम चल रहा है इसलिए पानी पर कोई राजनीति न करे।