बाघ हैं साहेब – संजय दत्त

संजय दत्त के दिल की आवाज

हिंदूहृदयसम्राट शिवसेनाप्रमुख श्री बालासाहेब ठाकरे के जीवन पर बनी फिल्म ‘ठाकरे’ आगामी २५ जनवरी को काफी भव्यता से रिलीज होने जा रही है। इसी सिलसिले में कल यशवंतराव चव्हाण प्रतिष्ठान सभागृह में शिवसेना सांसद तथा फिल्म के निर्माता संजय राऊत व ‘कलर्स मराठी’ चैनल द्वारा एक समारोह का आयोजन किया गया था जिसमें राजनीति, फिल्म व क्रिकेट जगत से जुड़ी हस्तियों ने शिवसेनाप्रमुख के साथ बिताए यादगार पलों को याद किया। इनमें मुन्नाभाई के नाम से मशहूर फिल्म अभिनेता संजय दत्त ने कहा, ‘जब पहली बार मैं बालासाहेब से मिलने ‘मातोश्री’ पहुंचा तो मैंने वास्तव में बालासाहेब में बाघ का रूप देखा। वे उसी शैली में बोलते थे। साहेब सही में बाघ हैं।’ इस कलरफुल लम्हें का प्रसारण आगामी २० जनवरी को ‘कलर्स मराठी’ पर होगा। कार्यक्रम में संजय दत्त ने कहा कि जेल से छूटने के बाद पिताजी (सुनील दत्त) ने कहा था कि सिद्धिविनायक दर्शन के बाद साहेब के पास चलेंगे। साहेब तेरे पिता समान हैं। सही में, साहेब मेरे पिता समान हैं। 

सही में, साहेब मेरे पिता समान हैं। बालासाहेब मुझे संजा नाम से पुकारते थे। आर्थर रोड जेल में मैं जितने दिन भी रहा, हर दिन मुझे बालासाहेब का संदेश आता था। वो कहते थे ‘संजा को बोलो, फिक्र मत कर, मैं हूं।’ संजय दत्त ने बताया कि पहली बार उन्होंने बालासाहेब का नाम अपनी मां नर्गिस से सुना था। उस समय वे बहुत छोटे थे। मां हमेशा कहती थी कि बालासाहेब उनके भाई समान हैं। इलाज के लिए जब मां अमेरिका गई थीं, उस समय उन्होंने हम भाई-बहनों को बुलाकर कहा था कि जिंदगी में कुछ भी हो, ठाकरे साहेब के पास जरूर जाना। हमारे बुरे दौर में भी साहेब का विश्वास हम पर बना रहा। ‘ठाकरे’ फिल्म को लेकर उन्होंने कहा कि इस फिल्म में मुझे कोई रोल मिलता तो मैं अपना ही किरदार निभाता।