बारिश में ‘बेपटरी’ होगा पांचवीं-छठी लाइन का काम

पांचवीं छठी लाइन का काम मध्य रेलवे में प्रगति पर है। ठाणे से दिवा के बीच नई रेल लाइन बिछाने का काम चल रहा है। नई रेल लाइन बिछाने के लिए जमीन न होने पर मुंब्रा खड़ी के ऊपर से एलिवेटेड लाइन बनाई जा रही है ऐसे में यहां पिलर का काम प्रगति पर है। परंतु बारिश के दौरान ठाणे-दिवा के बीच चल रहे पांचवीं-छठी लाइन का काम बेपटरी होगा। दरअसल बारिश के दौरान खड़ी में पानी का स्तर बढ़ने से ४ महीने काम बंद रहेगा।
नई डेडलाइन मार्च २०२०
मध्य रेलवे पर ठाणे-दिवा के बीच पांचवीं-छठी लाइन बनाने की डेडलाइन एक बार फिर बढ़ गई है। नई डेडलाइन मार्च २०२० निर्धारित की गई है। यानी मुंबईकरों को इस परियोजना को पूरा होने के लिए ९ महीने और इंतजार करना होगा। ठाणे-दिवा के बीच कई स्थानों पर नया ट्रैक बिछाने का काम जारी है।
बारिश बनेगी बाधा
मुंब्रा खाड़ी इलाके के पास बारिश के दौरान पानी का स्तर बढ़ने के कारण काम में बाधा आएगी इसलिए परियोजना पूरी करने के लिए नई डेडलाइन तय की गई है। मॉनसून के दौरान ४ महीने तक काम बंद रहेगा। इस दौरान खाड़ी क्षेत्र को छोड़कर अन्य इलाकों में काम किया जाएगा।
दिसंबर में ब्लॉक
मध्य रेलवे पर लगातार तकनीकी खराबी के कारण लोकल ट्रेनों की सेवाएं बाधित हो रही हैं। ऐसे में ठाणे-दिवा के बीच पांचवीं-छठी लाइन संजीवनी का काम करेगी। बारिश के बाद इस नई लाइन पर विद्युतीकरण का काम होगा। इसके लिए दिसंबर महीने में ब्लॉक लिए जाएंगे।
ढाई गुना बढ़ी लागत
ठाणे-दिवा पांचवीं-छठी लाइन को २००८ में मंजूरी मिली थी, तब परियोजना की लागत १५५ करोड़ रुपए निर्धारित की गई थी। अब इस परियोजना का खर्च ५०० करोड़ रुपए पहुंच चुका है। नई लाइन तैयार हो जाने के बाद ५० लोकल सेवाओं के बढ़ने की गुंजाइश है। परियोजना को पूरा करने के लिए पहले दिसंबर २०१५ की तारीख तय की गई थी। इसके बाद इसे बढ़ाकर दिसंबर २०१७ और बाद में दिसंबर २०१८ और दिसंबर २०१९ किया गया। अब इसे बढ़ाकर मार्च २०२० किया गया है।