बाढ़ से निपटने के लिए  २१ टीमें तैयार!

राज्य में राष्ट्रीय आपदा प्रतिसाद दल के (एनडीआरएफ) १८ एवं राज्य आपदा प्रतिसाद दल के (एसडीआरएफ) ३ टीमें हमेशा तैनात रहेंगी। उसमें से एनडीआरएफ की तीन टीमें हमेशा किसी भी मदद के लिए तैयार रखी गई हैं। इस तरह बाढ़ से निपटने के लिए कुल २१ टीमें तैनात रहेंगी। सैन्य दल की ओर से आपदा निवारण दल सज्ज रखे गए हैं और आवश्यकता पड़ने पर हेलिकॉप्टर को भी उपयोग में लाने का नियोजन किया गया है। रेलवे, मौसम विभाग, विविध विभागीय आयुक्त, कोस्टगार्ड, तीनों सैन्य दल ने भी मॉनसून की पूर्व तैयारी का प्रस्तुतीकरण किया। बारिश में बाढ़, इमारत गिरना, पानी इकट्ठा होने आदि तरह की घटनाएं न हों, इसके लिए उचित नियोजन करने एवं आपातकालीन नियंत्रण कक्ष में मानव संसाधन से सतर्क रहकर सभी संपर्क क्रमांक शुरू रखने के निर्देश मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने दिए।
सह्याद्रि अतिथिगृह में हुई राज्यस्तरीय मॉनसून पूर्व तैयारी की जायजा बैठक में मुख्यमंत्री फडणवीस ने उक्त आदेश दिए। इस बैठक में मदद एवं पुनर्वसन मंत्री चंद्रकांत (दादा) पाटील, मुख्य सचिव अजोय मेहता समेत विविध विभाग के सचिव, तीनों सैन्य दल के अधिकारी, तटरक्षक दल के अधिकारी, राष्ट्रीय एवं राज्य आपदा प्रतिसाद दल, सभी विभागीय आयुक्त, विविध महानगरपालिकाओं के आयुक्त एवं केंद्र और राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। बता दें कि राज्य में १७ जून तक सभी ओर बारिश हो सकती है। साथ ही राज्य में इस साल औसतन ९६ से १०४ फीसदी बारिश होने का अनुमान होने के बारे में भी उन्होंने बताया।