" /> बिंदास पढ़ो!, अखबार से कोरोना नहीं फैलता!

बिंदास पढ़ो!, अखबार से कोरोना नहीं फैलता!

दूध की थैली और अखबार जैसे नियमित इस्तेमाल की जानेवाली वस्तुओं के माध्यम से कोरोना वायरस नहीं पैâलता। सोशल मीडिया पर पैâलाई जा रही अफवाहों पर ध्यान न देने का आह्वान विशेषज्ञों ने किया है।
कोरोना वायरस को लेकर सोशल मीडिया पर गलत और बिना आधारवाली बातें शेयर की जा रही हैं। इससे लोगों में भय का माहौल बना हुआ है। अखबार, दूध की थैली आदि वस्तुओं के माध्यम से कोरोना के वायरस पैâल रहे हैं, ऐसी अफवाह जोरों पर है। इसके चलते कुछ हाउसिंग सोसायटियों ने दूध विक्रेताओं और अखबार विक्रेताओं को सोसायटी में आने पर रोक लगा दी है। इस पार्श्वभूमि पर स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने इन अफवाहों पर ध्यान न देने का आह्वान किया है। कोरोना वायरस केवल पीड़ित व्यक्तियों के संपर्क से ही पैâल रहा है। मोबाइल, लैपटॉप, कंप्यूटर, अखबार से कोरोना का प्रसार नहीं होता, ऐसा राजेश टोपे ने स्पष्ट किया। कोरोना की जनजागृति के लिए अखबार पढ़ना अति आवश्यक है, ऐसा भी उन्होंने कहा। अखबार से कोरोना वायरस न पैâलने की बात को देखते हुए नागरिक अखबार नियमित रूप से पढ़ें, ऐसा आह्वान भी अखबार विक्रेताओं ने लोगों से किया है।