बिजनौर के मदरसे में पुलिस का छापा

मुखबिर सूचना पर पुलिस और आतंक निरोधी दस्ते ने बिजनौर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संजीव त्यागी के अगुवाई में राम सहाय वाला स्थिति मदरसा दारुल कुरान हमीदिया में छापा मार कर अवैध हथियार, कारतूस के साथ कुछ संदिग्धों को हिरासत में लिया है। पुलिस ने मदरसा संचालक समेंट आधा दर्जन लोगों को हिरासत में लेकर पूंछ-तांछ कर रही है। मदरसे में अवैध रूप से मिले तमंचे व कारतूस के साथ जिन लोगों को हिरासत में लिया गया है उनमें 2-3 संदिग्ध बाहरी तथा 3-4 स्थानीय मॉड्यूल्स बताये जा रहे हैं। इनके निशाने पर सावन महीने में होने वाली पवित्र कावड़ यात्रा थी। यह किसी भी प्रकार कावड़ यात्रा में गड़बड़ी करना चाहते थे।किसी भी स्थिति से निपटने के लिये मौके पर भारी संख्या पुलिस फोर्स तैनात किया गया है। पुलिस मदरसे के चप्पे-चप्पे का गहन पड़ताल कर रही है। बता दें कि 2017 में बिजनौर में ब्लास्ट हुआ था तब प्रदेश में अखिलेश यादव के नेतृत्व वाली समाजवादी पार्टी की सरकार थी। उस समय बिजनौर जिले की उमरी के मदरसे में 4 बाहरी संदिग्धों के रहने की बात सामने आई थी। जिसमें एटीएस ने दो संदिग्धों को पश्चिम बंगाल, एक को लखनऊ तथा एक और को बिहार से गिरफ्तार किया था। इस संदर्भ में पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह के जनसंपर्क अधिकारी ने दोका सामना को बताया कि बिजनौर में मदरसे में छापा पड़ा है लेकिन अधिकृत सूचना कुछ देर बाद ही दे पाऊंगा। मामला चूंकि मदरसे में छापेमारी का है लिहाजा छापेमारी की तो पुष्टि एसपी बिजनौर से लेकर डीजीपी मुख्यालय के अफसर तक करते हैं, लेकिन इस छापेमारी में बरामदगी और गिरफ्तारियां पर हर कोई भी बोलने से बच रहा है