बिना वीजा के रह रहे नाईजीरियनों की धरपकड़, ड्रग्स बेचने का आरोप

भारत के कुछ शहरों में नाइजीरिया के नागरिकों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है जिसमें दिल्ली- एनसीआर प्रमुख है। दिल्ली से सटे नोएडा में अवैध रूप से रहने वाले नाइजीरिया के लोगों को खदेड़ने का काम स्थानीय प्रशासन ने शुरू कर दिया है। नोएडा में पिछले दो दिनों से नाईजीरियनों के खिलाफ बड़ा अभियान चलाया जा रहा है। शुक्रवार तड़के दो दर्जन नाइजीरियन नागरिकों को पुलिस ने दबोचा, करीब इतने ही पुलिस को चकमा देकर भागने में कामयाब हो गए। पुलिस की यह धरपकड़ बिना वीजा के अवैध तौर पर रह रहे लोगों पर की गई। स्थानीय प्रशासन को ऐसी शिकायतें लंबे समय से मिल रही हैं जिसमें बताया गया है कि नोयडा और आसपास के इलाकों में भारी संख्या में नाइजीरियन अवैध तरीके से रह रहे हैं।
ये लोग यहां क्यों रहते हैं इसकी जानकारी पुलिस-प्रशासन को भी रहती है, उनका यहां रहने का मुख्य कारण ड्रग्स आदि मादक पदार्थों की बिक्री करना होता है। दूसरे आपराधिक मामलों में भी इनकी गतिविधियां लगातार बढ़ रही हैं। नशे में सार्वजनिक स्थानों पर लड़ाई-झगड़ा करना इनके लिए आम हो गया है।
बात दें, ड्रग्स के अवैध कारोबार में लिप्त कई नायजीरियनों को पुलिस ने पिछले हफ्ते पकड़ा था। अपने कबूलनामे में आरोपियों ने पुलिस की पूछताछ में खुलासा किया है कि दिल्ली-नोएडा में बड़ी संख्या में उनके देश के लोग रहते हैं, जो सभी मादक पदार्थों की भारतीय लोगों के डिमांड पर सप्लाई करते हैं। उन्होंने ये भी बताया कि, यहां रह रहे ज्यादातर नाईजीरियनों के पास वीजा नहीं है जिनके पास है भी तो उनकी अवधि समाप्त हो चुकी है।
गौरतलब है कि नाइजीरिया से ड्रग्स जैसे नशीले पदार्थों की भारत में सबसे ज्यादा सप्लाई होती है। इसको लेकर नाइजीरिया और भारत के बीच नशीले धंधे का बड़ा कारोबार होने लगा है। आय दिन हवाईअड्डों पर नाइजीरिया के लोग ड्रग्स के साथ पड़के जा रहे हैं। ये धंधा मिलीभगत से ही फलफूल रहा है। नोएडा के पुलिस अधीक्षक ने बताया कि यहां रहने वाले सभी नाईजीरिया के लोगो के वीजा की जांच की जा रही है। टूरिस्ट वीजा पर आने वाले ये लोग यहां व्यापार करते हैं ऐसी जानकारियां उन्हें प्राप्त हुई हैं। सभी पहलुओं की जांच की जा रही है। करीब दो दर्जन लोगों को हिरासत में लिया गया है।