" /> बीवी कमाती है, घर संभालता है गेंदबाज

बीवी कमाती है, घर संभालता है गेंदबाज

ऐसा भी होता है। जरूरी नहीं कि बीवी ही घर सम्भाले, बच्चो को बढ़ा करे। पति भी ये कर सकता है और बीवी नौकरी कर बाहर का कामकाज संभाले। जी हां, ये एक गेंदबाज के जीवन की कहानी है। एक ऐसा गेंदबाज जिसने अपनी फिरकी से फर्स्ट क्लास क्रिकेट में ३६५ विकेट चटकाए, जिसने लिस्ट-ए क्रिकेट में २२६ वनडे विकेट लिये, यही नहीं टी२० क्रिकेट में भी उसने ८३ विकेट अपने नाम किये, वो क्रिकेटर आज देश छोड़कर पराए मुल्क में रहता है। यही नहीं ये खिलाड़ी अपनी टीम का कप्तान भी रहा और उसकी अगुवाई में टीम को कामयाबियां भी मिली लेकिन अब वो खिलाड़ी महज ३३ साल की उम्र में क्रिकेट छोड़ चुका है और यही नहीं वो कोई काम भी नहीं करता। जिम्बाब्वे के पूर्व कप्तान और लेग स्पिनर ग्रेम क्रीमर की, जिनकी कहानी बेहद दिलचस्प है.एलेक्जेंडर ग्रेम क्रीमर जिम्बाब्वे के पूर्व लेग स्पिनर हैं, उनका जन्म १९ सितंबर, १९८६ को हरारे में हुआ था। क्रीमर ने साल २००५ में जब वो सिर्फ १८ साल के थे तब अपना टेस्ट डेब्यू किया था और साल २००९ में वो पहला वनडे मैच खेले थे। क्रीमर को एक टेस्ट मैच स्पेशलिस्ट के तौर पर देखा जाता था लेकिन उन्होंने खुद को वनडे और टी२० में भी साबित किया। जिम्बाब्वे के इस लेग स्पिनर ने १९ टेस्ट में ५७ विकेट झटके और वनडे में उन्होंने ९६ मैचों में ११९ विकेट लिये। टी२० में क्रीमर ने २९ मैचों में ३५ विकेट लिये जनवरी २०१९ को ग्रेम क्रीमर दुबई बस गए, जहां वो अपने परिवार को संभालते हैं। क्रीमर की पत्नी मेरना मूरे एक पायलट हैं और वो एमिरेट्स के लिए काम करती हैं। क्रीमर अब घर की देखभाल करते हैं और उनकी पत्नी घर चलाती है।