बुरी आदत देती है बीमारियों को दावत,  शौचालय में न करें  मोबाइल का इस्तेमाल

मोबाइल फोन अब जरूरत नहीं बल्कि आदत बन चुका है। मेट्रो से लेकर डिनर टेबल तक तो फिर भी ठीक था लेकिन कुछ लोग तो टॉयलेट सीट पर बैठकर भी मोबाइल स्क्रॉल करते रहते हैं। साल २०१५ में वेरिजन वायरलेस के सर्वे में यह बात सामने आई है कि १० में से ९ लोग बाथरूम में मोबाइल भी साथ लेकर जाते हैं। अपडेट रहना एक अलग बात है लेकिन क्या आप जानते हैं कि आपकी ये आदत आपको कितनी गंभीर बीमारी दे सकती है। क्या आप भी उन लोगों में से एक हैं जो टॉयलेट सीट पर बैठकर मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते हैं? तो आप गंभीर बीमारियों का शिकार हो सकते हैं।

स्मार्टफोन आज हमारी जिंदगी का अहम हिस्सा बन चुका है। हमें स्मार्टफोन की ऐसी लत लग चुकी है कि टॉयलेट इस्तेमाल करने के दौरान भी हम अपना स्मार्टफोन साथ ले जाना नहीं भूलते। भले ही टॉयलेट के अंदर सेल फोन यूज करने में आपको सहूलियत नजर आती हो लेकिन हकीकत ये है कि ऐसा करके आप अपनी हेल्थ के साथ बहुत बड़ा खिलवाड़ करते हैं। अगर आप भी ऐसा करते हैं तो सावधान हो जाइए। टॉयलेट में बैठने से लेकर हैंड वॉश करने तक के बीच में फोन यूज करना बेहद खतरनाक साबित हो सकता है। ये आदत आपको बहुत-सी बीमारियों का शिकार बना सकती है।
असल में टॉयलेट के अंदर ई-कोलाई, शिगेला, हेपेटाइटिस-ए, एमआरएसए, नोरोवायरस और गेस्ट्रोइंटेस्टिनल वायरस जैसे कीटाणु होते हैं। जो हमें डायरिया, उल्टी, पेट में ऐंठन, पेट दर्द जैसी बीमारियों का शिकार बना सकते हैं। साथ ही साल्मोनेला, स्ट्रेप्टोकोकस की वजह से हमें कई प्रकार के चर्मरोग भी हो सकते हैं। टॉयलेट फ्लश करते हुए पानी के साथ वेस्ट मटेरियल के छोटे-छोटे कण भी चारों दिशा में ६ फुट तक ऊपर उठते हैं और टॉयलेट के हर हिस्से में पैâल जाते हैं। कई बार साफ करने के बाद भी टॉयलेट से कीटाणु पूरी तरह नहीं हटते हैं। इसी वजह से हमारे साफ दिखते टॉयलेट में भी काफी कीटाणु होते हैं। फ्लैश और दीवारों आदि के स्पर्श के दौरान ये कीटाणु हमारे हाथों में आ जाते हैं और जब हम टॉयलेट में मोबाइल फोन इस्तेमाल करते हैं तो यही कीटाणु हमारे स्मार्टफोन की स्क्रीन और कवर पर चले जाते हैं। मोबाइल फोन हमारे मुंह, कान, आंख एवं नाक जैसी संवेदनशील इंद्रियों के इर्द-गिर्द सीधे संपर्क में आता है, जिससे खतरनाक सूक्ष्म कीटाणुओं के हमारे शरीर में प्रवेश की आशंका बढ़ जाती है। खाना खाते समय जब हम ऐसे स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं तो फोन पर चिपके कीटाणुओं को हमारे शरीर पर या मुंह के अंदर जाने का रास्ता मिल जाता है। ये कीटाणु इतने खतरनाक होते हैं कि इनसे हमें कई खतरनाक चर्मरोग और शारीरिक बीमारियां हो सकती हैं। टॉयलेट सीट पर बैठकर मोबाइल स्क्रॉल करनेवालों को पाइल्स की भी समस्या देखी गई। इन बीमारियों से बचने के लिए आपको टॉयलेट के अंदर अपना फोन लेकर जाना या इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। यदि किसी जरूरी काम की वजह से आपको इस्तेमाल भी करना पड़ जाता है तो टॉयलेट से बाहर आकर अपने फोन और हाथ को किसी अच्छे सैनिटाइजर की मदद से साफ कर लेना चाहिए।